तेजस्वी ने फिर लगाया नीतीश पर निशाना, कहा - नीतीश कुमार को है बस अपनी कुर्सी प्यारी, दिला ना सकें भारत रत्न

तेजस्वी ने फिर लगाया नीतीश पर निशाना, कहा - नीतीश कुमार को है बस अपनी कुर्सी प्यारी, दिला ना सकें भारत रत्न

DESK :  बिहार में मंत्रिमंडल के विस्तार पर चर्चाएं काफी तेज़ हैं. इसी बीच एक बार फिर से आरजेडी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. बुधवार को आरजेडी ने नीतीश कुमार पर यह आरोप लगाया है कि वे किसी भी हाल में बस कुर्सी से चिपके रहना चाहते हैं और बिहार और यहाँ की तीन पीढ़ियों का भविष्य बर्बाद करना चाहते हैं. 


ट्विटर पर आरजेडी ने ट्वीट कर कही यह बात


बुधवार को आरजेडी ने अपने एक आधिकारिक ट्वीट में कहा कि ताउम्र बैसाखी पर राजनीति करने वाले रीढ़विहीन नीतीश की मोदी जी ने अब बैसाखी ही छिन ली है. लेकिन कुर्सी कुमार तमाम अपमान सह कर भी मोदी-शाह के चरणों से लिपटें है कि जैसे-तैसे बस कुर्सी से चिपका रहने दें ताकि वो बिहार और इसकी तीन पीढ़ियों को बर्बाद कर सकें।


एनडीए में आये कई बदलाव


बिहार में जब से बीजेपी एनडीए के बड़े भाई की भूमिका में सामने आई है तबसे एनडीए में काफी बदलाव सामने आये हैं. बदलाव के कारण बीजेपी-एनडीए में कथित तौर पर खींचतान ज़ारी है जो कि विपक्ष को अब साफ़ नज़र आ रहा है. हालाँकि, दोनों दलों के नेताओं ने इस बात से साफ़ इनकार कर दिया है लेकिन दोनों दलों के नेताओं के बयान से यह अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि बीजेपी-एनडीए में खींचतान ज़ारी है।


तेजस्वी यादव ने सीधा ताना था निशाना 


पूर्व में आरजेडी ने लोकनायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न से नवाज़ने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेर लिया था. आरजेडी के वरिष्ट नेता तेजस्वी यादव ने यह कहा कि, कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिलाने की हमारी मांग बहुत पुरानी है लेकिन बिहार में एनडीए के 40 में से 39 सांसद होने के बाद भी यह “डबल इंजन” की सरकार उन्हें एक भारत रत्न क्यूँ नहीं दे पाई. क्या इसलिए कि वो वंचित समूह से संबंध रखते है? सीएम इसके लिए विशेष रूप से पीएम से क्यों नहीं मिलते? वहीं तेजस्वी के इस बयान पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने अब तक 4 बार लोकसेवक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिलाने के लिए केंद्र से मांग की है. इस बारे में भी उन्होंने अनुशंषा भेजी है।


Find Us on Facebook

Trending News