कांग्रेस के बाद अब RJD दिखाएगी अपना दम, सुपौल में पप्पू को चुनौती तो दरभंगा में कीर्ति आजाद को समेटने निकलेंगे तेजस्वी

कांग्रेस के बाद अब RJD दिखाएगी अपना दम, सुपौल में पप्पू को चुनौती तो दरभंगा में कीर्ति आजाद को समेटने निकलेंगे तेजस्वी

न्यूज4नेशन- 29 साल बाद बिहार कांग्रेस ने अपने बूते पर गांधी मैदान में भीड़ जुटाने की साहस जुटा पाई. कांग्रेस अपनी जन आकांक्षा रैली के जरिए यह साबित करना चाहती थी कि सीटों के बंटवारे में कांग्रेस को हल्के में न लिया जाए. महागठबंधन में सीटों को लेकर चल रही रस्साकशी के बीच अब आरजेडी अपनी ताकत दिखाने जा रही है. आरेजडी यह जताना चाहती है कि बिहार में आरजेडी के बैनर तले ही महागठबंधन का भविष्य है.

हालांकि कांग्रेस ने अपनी रैली में भीड़ जुटाने लिए अन्य लोगों का भी दामन था लेकिन आरजेडी अपने कुबत पर बेरोजगारी हटाओ-आरक्षण बचाओ यात्रा की शुरूआत करने जा रही है. अहम बात यह है कि इस यात्रा की शुरूआत इन जगहों से हो रही है जहां कांग्रेस सीटों को लेकर मजबूत दावेदारी जता रही है. आरजेडी 7 फरवरी बेरोजगारी हटाओ-आरक्षण बचाओ की शुरूआत कर रही है और इस यात्रा को तेजस्वी यादव लीड करेंगे.

दरभंगा से होगी यात्रा की शुरूआत

तेजस्वी यादव अपने यात्रा के पहले चरण में दरभंगा को चुना है. तेजस्वी यहां तीन सभाएं करेंगे. बीजेपी के बागी कार्ति आजाद यहां से सांसद हैं और कांग्रेस की टिकट पर यहां से दावेदारी ठोकने के फेर में हैं. लेकिन महागठबंधन में शामिल हुए मुकेश सहनी भी दरभंगा से ही अपना दम खम दिखाने में जुटे हैं. लालू यादव से मुलाकात भी कर चुके हैं. ऐसे में आरजेडी की यहां सभा कांग्रेस को थोड़ा असहज कर सकती है.

सुपौल में तेजस्वी पप्पू यादव को देंगे चुनौती

तेजस्वी अपनी दूसरी सभा सुपौल में करेंगे. सुपौल कांग्रेस के कब्जे में यहां से पप्पू यादव की पत्नी रंजीता रंजन सांसद हैं. यह बात जगजाहिर है कि पप्पू यादव से तेजस्वी की अदावत पुरानी है. पप्पू यादव ने आरजेडी के टिकट पर लोकसभा का चुनाव जाती था लेकिन बाद पप्पू यादव ने तेजस्वी यादव के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया. तेजस्वी यहां सभा करके कांग्रेस के साथ साथ पप्पू यादव की भी हैसियत बताने की कोशिश करेंगे.

भागलपुर में होगी तीसरी सभा

तेजस्वी यादव 9 फरवरी को भागलपुर में सभा करेंगे. हालांकि भागलपुर सीट पर पहले से आरजेडी का कब्जा है लेकिन फिर भी तेजस्वी यादव अपने दुर्ग को और मजबूत करने के लिए यहां सभा करेंगे. तेजस्वी को यह पता है कि पिछली बार यहां आरजेडी काफी कम ही वोटों से जीती थी, इसलिए तेजस्वी यहां भी सभा कर अपने किले को और मजबूत करने की फिराक में हैं. 

Find Us on Facebook

Trending News