तेजस्वी ने विस अध्यक्ष से मांगी विधायकों की सुरक्षा की गारंटी, पत्र लिखकर पूछा – माननीयों की पिटाई पर अब तक क्या की कार्रवाई

तेजस्वी ने विस अध्यक्ष से मांगी विधायकों की सुरक्षा की गारंटी, पत्र लिखकर पूछा – माननीयों की पिटाई पर अब तक क्या की कार्रवाई

PATNA : 23 मार्च को बिहार विधानमंडल में विधायकों की पिटाई का दर्द अब भी कम नहीं हुआ है। मामले में दोषी पुलिसकर्मियों और अधिकारियों पर क्या कार्रवाई की गई, इसको लेकर नेता प्रतिपक्ष ने बिहार विधानसभा अध्यक्ष को लेटर लिखकर स्मरण कराया है। इस लेटर में तेजस्वी यादव ने अध्यक्ष से साफ कहा है कि हमारे विधायक सदन में तब ही आएंगे, जब उनकी सुरक्षा की गारंटी दी जाएगी।

 तेजस्वी ने लिखा है कि उस घटना के बाद विपक्ष की सभी पार्टियों के विधायक सदन आने से डर रहे हैं। उन्होंने मुझसे मांग की है कि विधानसभा अध्यक्ष से बात करें और दोषी पदाधिकारियों और कर्मियों के खिलाफ समूचित कार्रवाई की मांग करें। ताकि वह भयमुक्त होकर सदन में प्रदेश की समस्याओं को लेकर अपनी बात रख सकें।

तेजस्वी ने लिखा है कि पूर्व में भी मैंने इस संबंध में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। नेता प्रतिपक्ष ने लिखा है कि अगर दोषियों पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है तो इतिहास माफ नहीं करेगा। यह लोकतंत्र की मर्यादा, संसदीय कार्य प्रणाली बचाने के साथ माननीय सदस्यों का मनोबल बढ़ाने के लिए भी जरुरी है

बता दें कि  देश की राजनीति में इस साल 23 मार्च का दिन काला अध्याय माना जाता है, जब पहली बार किसी विधान मंडल में पुलिस बुलाने की स्थिति उत्पन्न हो गई और विधानसभा से विधायकों को खिंचकर बाहर निकाला गया। बिहार में बजट सत्र के समापन के एक दिन पहले हुए इस घटना का खौफ आज भी विधायकों में कायम है। अब जब आगामी 26 जुलाई को मानसून सत्र शुरू होने वाला है तो यह जख्म फिर से ताजा हो गयी है।


Find Us on Facebook

Trending News