पप्पू से तेजस्वी को डर! गिरफ्तारी को गलत ठहरा चुके हैं महागठबंधन के दो दल तो राजद बता रहा सरकार का एजेंट

पप्पू से तेजस्वी को डर! गिरफ्तारी को गलत ठहरा चुके हैं महागठबंधन के दो दल तो राजद बता रहा सरकार का एजेंट

PATNA: पूर्व सांसद पप्पू यादव को कोरोना काल में सरकार की पोल खोलना महंगा पड़ गया। मंगलवार को पुलिस ने उन्हें 32 साल पुराने मामले में पटना आवास से गिरफ्तार कर लिया। मधेपुरा कोर्ट ने उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर बिहार की राजनीति गरम है। सत्ता पक्ष के भी 2 सहयोगी दलों ने पप्पू की गिरफ्तारी पर सवाल उठाये थे। गिरफ्तारी के दिन राजद ने नीतीश सरकार पर हमला बोला था और पप्पू यादव की रिहाई की मांग की थी। राजद के अलावे महागठबंधन के सहयोगियों ने भी पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर सरकार को कटघरे में खड़ा किया था। लेकिन अगले ही दिन राजद ने पलटी मार दिया और पप्पू यादव को सत्ता पक्ष का एजेंट करार दिया। राजद ने पप्पू यादव को अपराधी-गुंडा बता दिया। पप्पू यादव के मुद्दे पर महागठबंधन में ही दो फाड़ हो गया है। महागठबंधन के सहयोगी दल राजद के आरोपों से इत्तेफाक नहीं रखते हैं। कांग्रेस-माले पप्पू यादव की गिरफ्तारी को सरकार का तानाशाही रवैया करार दिया है।  

पप्पू पर महागठबंधन में दो फाड़

पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर सत्ता पक्ष के दो सहयोगी दल के नेता सवाल उठा चुके हैं। वहीं विपक्ष की तरफ से राजद के छोड़ बाकी के 2 दलों ने भी नीतीश सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस और भाकपा माले ने पप्पू यादव की गिरफ्तारी को सरकार का तानाशाही रवैया करार दिया है। भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य ने नीतीश सरकार के खिलाफ जमकर हमला बोला है। माले महासचिव ने पूछा है कि क्या एंबुलेंस घोटाला उजागर करने के कारण सरकार ने पप्पू यादव को गिरफ्तार कराया है? भाकपा माले ने बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी की गिरफ्तारी और पप्पू यादव की रिहाई की मांग की है। वहीं कांग्रेस ने भी पप्पू यादव की गिरफ्तारी के निर्णय को गलत ठहराया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदनमोहन झा ने पप्पू यादव को कोरोना काल में गिरफ्तार किये जाने के सरकार के निर्णय को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है।जानकार बताते हैं कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव जाप सुप्रीमो पप्पू यादव की लोकप्रियता बढ़ने देना नहीं चाहते।तेजस्वी यादव नहीं चाहते कि यादवों में उनकी लोकप्रियता का ग्राफ बढ़े। लिहाजा पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर खुद चुप्पी साध अपने एक विधायक से पप्पू यादव को सरकार का एजेंट करार दे दिया. 

राजद ने प्रेस कांफ्रेंस कर पप्पू पर बोला हमला

राजद ने प्रेस कांफ्रेंस कर पप्पू यादव पर गंभीर आरोप लगाये हैं। राजद प्रदेश कार्यालय में मंगलवार को आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में विधायक चंद्रशेखर और प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने पप्पू यादव को सरकार की गोद में खेलने का आरोप लगाया था।  उन्होंने कहा कि पप्पू यादव और नीतीश कुमार नूरा-कुश्ती कर रहे हैं। पप्पू खुद गिरफ्तार हुए हैं ताकी लोगों की सहानुभूति मिले। इसमें सरकार और पप्पू यादव की मिलीभगत है। पूर्व सांसद का चरित्र कैसा है ये किसी से छुपा है क्या? पप्पू यादव ने इसी फ़रारी के चलते सरकार के कहे अनुसार अस्पताल से नामांकन किया और मधेपुरा सहित संपूर्ण बिहार में प्रचार किया। मुख्यमंत्री ने उनकी कोई गिरफ़्तारी नहीं होने दी। सरकार अपनी विफलताओं को छिपाने, मरते लोगों, जलते शवों और नदियों में बहती लाशों से ध्यान हटाने के लिए प्रायोजित नाटक का प्रपंच रच रहा है।

जेडीयू ने राजद विधायक की खोली पोल

मधेपुरा से राजद विधायक चंद्रशेखर ने मंगलवार को प्रदेश कार्यालय में प्रेस कांफ्रेंस कर पप्पू यादव पर बड़ा हमला बोला था। राजद ने कहा कि पप्पू यादव नीतीश सरकार के एजेंट हैं. दोनों में मिलीभगत है और नूरा-कुश्ती कर रहे। राजद विधायक प्रो. चंद्रशेखर द्वारा पप्पू यादव को गुंडा-अपराधी बताये जाने पर जेडीयू ने घेरा है। जेडीयू ने राजद विधायक चंद्रशेखर को ही दोहरे चरित्र वाला करार दिया। जेडीयू के प्रवक्ता निखिल मंडल ने कहा कि कल राजद के मधेपुरा से विधायक प्रो.चंद्रशेखर यादव ने प्रेस कांफ्रेंस करके पप्पू यादव को चोर-गुंडा,एनडीए का एजेंट और ना जाने क्या क्या कहा। वे पप्पू यादव का करैक्टर सर्टिफिकेट बाँट रहे थे।ये तो सब ने प्रेस कांफ्रेंस में देखा। अब ये देखिए ये वही चंद्रशेखर हैं जो 2005 के मधेपुरा विधानसभा चुनाव में निर्दलीय लड़े और वो भी पप्पू यादव के समर्थन से.वे पप्पू यादव जिंदाबाद का नारा लगाया करते थे,उनकी तारीफ में जयकारा लगाया करते थे। आज मधेपुरा विधायक चंद्रशेखर पूर्व सांसद पप्पू यादव को गालियां दे रहे हैं. मतलब काम निकल गया तो पहचानते नही..!! वाह विधायक जी वाह। कमाल का है आपका दोहरा चरित्र। जेडीयू प्रवक्ता ने प्रो. चंद्रशेखर द्वारा पप्पू यादव का गुणगान वाला पोस्टर भी जारी किया है। 2005 के विस चुनाव के पोस्टर में प्रो. चंद्रशेखर द्वारा पप्पू यादव को मसीहा बताया गया था।



Find Us on Facebook

Trending News