बिहार के युवाओं के साथ खड़े हुए तेजस्वी, कहा- बेरोजगार युवाओं पर डंडे बरसाना आम बात हो गई है

बिहार के युवाओं के साथ खड़े हुए तेजस्वी, कहा- बेरोजगार युवाओं पर डंडे बरसाना आम बात हो गई है

Patna : बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी पारा हाई है। एक तरफ जहां सत्ता पक्ष अपनी उपलब्धियां गिनाने में चूक नहीं रही हैं तो वहीं सरकार के कार्यों पर सवाल उठाने में विपक्षी पार्टियां भी पीछे नहीं हट रही हैं। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अब पुरजोर तरीके से युवाओं का मुद्दा उठाया है। बिहार में बढ़ती बेरोजगारी को लेकर उन्होंने नीतीश सरकार पर हमला बोला है । 

तेजस्वी यादव ने कहा है कि नीतीश सरकार घोर अहंकारी और निरंकुश हो गई है। युवाओं और बेरोजगारों के प्रति उनकी बेरुखी और बेरहमी पराकाष्ठा पार कर चुकी है। बेरोजगार युवा पर डंडे चलाना और गिरफ्तार करना इनकी रोज के काम में शामिल हो चुका है। तेजस्वी यादव ने आगे कहा कि उदाहरण के तौर पर आप बिहार लोक सेवा आयोग को देख लीजिए। बिहार लोक सेवा आयोग की तरफ से अभियंता पद पर नियुक्ति के लिए निकाले गए विज्ञापन के लगभग 3 साल बीत जाने के बाद भी इसका रिजल्ट प्रकाशित नहीं किया गया है। मुख्य परीक्षा हुए भी लगभग डेढ़ साल बीत चुके हैं, लेकिन सरकार नियुक्तियों को कानूनी पेंच में उलझाकर मामले को घसीट रही है जिससे बेरोजगार युवा सड़क पर बेरोजगारी का दंश झेल रहे हैं। 

आपको बता दें कि माननीय उच्च न्यायालय पटना के सिंगल बेंच ने अपने निर्णय में इसके रिजल्ट के प्रकाशन पर कहीं रोक नहीं लगाई थी, फिर भी सरकार इस मुद्दे को डबल बेंच में ले गई जिससे सरकार द्वारा युवाओं को रोजगार के अवसर वंचित करने की मंशा जाहिर होती है। ये युवाओं को केस में उलझा कर दर दर की ठोकर खाने को विवश कर रही है।तेजस्वी यादव ने आगे कहा है कि कोरोना महामारी में कोरोना वॉरियर्स के रूप में कार्यरत महिला नर्स पर भी डंडा बसाया गया। आंगनबाड़ी सेविका, नियोजित शिक्षक, दरोगा भर्ती, पुलिस अभ्यर्थी, आशा कार्यकर्ता, जीविका दीदी, अतिथि शिक्षक, ठेला रिक्शावाला सभी पर इस बेरहम सरकार द्वारा डंडा से प्रहार किया गया।

Find Us on Facebook

Trending News