जन्मदिन को भी गरीबों की सेवा में समर्पण करने वाले पीएम मोदी से तेजस्वी यादव को सीख लेनी चाहिए : अरविन्द सिंह

जन्मदिन को भी गरीबों की सेवा में समर्पण करने वाले पीएम मोदी से तेजस्वी यादव को सीख लेनी चाहिए : अरविन्द सिंह

PATNA : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा है कि अपने जन्मदिन को भी गरीबों की सेवा में समर्पण करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को सीख लेनी चाहिए जो अपना जन्मदिन उड़न खटोला में मनाते हैं। 17 सितंबर को भगवान विश्वकर्मा का पूजन दिवस है और उसी दिन आधुनिक भारत के विश्वकर्मा नरेंद्र मोदी का जन्म हुआ है यह भी एक प्रभु की अद्भुत लीला है।

उन्होंने कहा की नेता प्रतिपक्ष बताएं कि बीमारों को फल और दवा देना, वैक्सीनेशन कैंप लगाना, नदियों और तालाबों का पूजन करना, जो विश्वकर्मा पूजा कर रहे हैं उनको सम्मानित करना, नौजवानों का नवभारत मेला का आयोजन करना, नमो ऐप को डाउनलोड करना और उससे जानकारी लेना, सभी बूथों पर प्रधानमंत्री ने जो कल्याणकारी योजनाएं चलाएं हैं. उसकी जानकारी देना, वृक्षारोपण करना, सड़कों पर फल सब्जी ठेला लगाने वाले महिला भेंडरों को सम्मानित करना, किसान जवान सम्मान कार्यक्रम आयोजन करना, पंचायती राज द्वारा वृक्ष हरेक जिला में लगाना, अनुसूचित जाति मोर्चा द्वारा अंबेडकर परिवार सम्मेलन और आयुष्मान भारत अन्य योजनाओं का लाभार्थियों का सम्मान करना, अनुसूचित जाति मोर्चा द्वारा लाभार्थी सम्मान कार्यक्रम आयोजित करना, महादलित प्रकोष्ठ द्वारा बुजुर्गों का सम्मान कार्यक्रम, कला संस्कृति प्रकोष्ठ द्वारा रंगोली पेंटिंग प्रतियोगिता, प्रतिभावान खिलाड़ियों का सम्मान समारोह क्या गुनाह है। नेता प्रतिपक्ष आप बताइए...?

अरविन्द सिंह ने कहा कि उसी तरह से 25 सितंबर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती मनाना और पॉलिथीन मुक्त जागरूकता अभियान चलाना, सभी बूथों पर मन की बात सुनना और प्रधानमंत्री जी का मार्गदर्शन प्राप्त करना, गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत राशन बैंक का जो हम सरकार द्वारा वितरण किया जा रहा है, गरीबों को थैला देना, युवा मोर्चा द्वारा रक्तदान शिविर लगाना, ओबीसी मोर्चा द्वारा लाभार्थी एवं बुजुर्गों को सम्मान करना, आजादी के अमृत महोत्सव पर स्वतंत्रता सेनानी शहीद परिवारों से मिलना और उन्हें सम्मानित करना, नदियों के घाटों की सफाई कार्यक्रम और पूजन करना नमामि गंगे के तहत क्या गुनाह है।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती 2 अक्टूबर को मनाना, और उस अवसर पर दुर्गा पूजा का जो मूर्ति निर्माण करते हैं उन्हें सम्मानित करना, मत्स्यजीवीं द्वारा मछुआरों के लिए कार्यक्रम चलाना, दिव्यांग खिलाड़ियों को सम्मान करना और क्विज प्रतियोगिता आयोजित करना, दिव्यांग वृद्धाआश्रमों में अनाथालय में सेवा का कार्यक्रम चलाना, स्वास्थ शिविर लगाना क्या गुनाह है...? नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव प्रधानमंत्री अंत्योदय यानी अंतिम आदमी का उदय के लिए कृत संकल्पित हैं। जिसका प्रभाव भाजपा की नीतियों रितियों पर स्पष्ट दिखाई देता है।

Find Us on Facebook

Trending News