खुद को उप मुख्यमंत्री नहीं मानते तेजस्वी यादव, कारण- कहीं सीएम नीतीश की पलटीमार छवि तो नहीं

खुद को उप मुख्यमंत्री नहीं मानते तेजस्वी यादव, कारण- कहीं सीएम नीतीश की पलटीमार छवि तो नहीं

पटना. तेजस्वी यादव को बिहार का उपमुख्यमंत्री बने अब पांच दिन होने को है, लेकिन वे अभी भी खुद को राज्य का उप मुख्यमंत्री नहीं मानते हैं। यह साबित होता है उनके अधिकारिक फेसबुक अकाउंट से। दरअसल सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहने वाले तेजस्वी यादव ने अभी तक अपने फेसबुक प्रोफाइल में खुद को उप मुख्यमंत्री नहीं बताया है। उन्होंने 13 अगस्त की शाम तक इसे अपडेट नहीं किया है। वहां तेजस्वी यादव के परिचय के रूप में बिहार का पूर्व उप मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष का दिख रहा है। हांलाकि ट्विटर पर उन्होंने अपडेट कर दिया है।

ऐसे में बड़ा सवाल है कि तेजस्वी यादव ने ऐसा जानबूझकर कर रखा है या फिर यह उनकी रणनीतिक चाल है। दरअसल सीएम नीतीश के दलों को जोड़कर यानी जदयू संग राजद को लाकर उन्होंने महागठबंधन की सरकार तो बना ली है। लेकिन, शायद अंदर खाने अभी भी दलों के जुड़ने के बाद भी दिलों का जुड़ना शेष है। जैसे अभी तक मंत्रिमंडल का गठन नहीं होना, स्पीकर पद पर मामला अधर में होना प्रमुख है। इन सबके बीच सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने के बाद भी अपने फेसबुक प्रोफाइल में बदलाव नहीं करना अब लोगों को खटक रहा है। इसी कारण सोशल मीडिया पर तेजस्वी ट्रोल भी हो रहे हैं।


एक यूजर ने उनके प्रोफ़ाइल का स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए लिखा है कि क्या तेजस्वी को अभी भी नीतीश कुमार पर भरोसा नहीं है या फिर उनकी पलटीमार छवि से तेजस्वी असमंजस में हैं। एक अन्य यूजर ने लिखा है कि लगता है तेजस्वी को पता है कि उनके चाचा फिर से पलट सकते हैं। इसलिए तेजस्वी ने अभी भी खुद को पूर्व उप मुख्यमंत्री बताना उचित नहीं समझा है। एक अन्य यूजर ने ट्रोल करते हुए लिखा है, यह स्क्रीनशॉट दिनांक 13 अगस्त, 2022 को अपरान्ह 4.58 की है। उप-मुख्यमंत्री महोदय, अपने सोशल मीडिया हैंडलर को ठीक से हैंडिल करें। अभी तक आपको Ex-Deputy Chief Minister बनाये रखे हैं। लगता है वे महाभारत के "संजय" हैं, आगे कुछ देख रहे हैं। शेष तो आप विद्वान हैं ही।

हालांकि विधिक जानकारों का मत अलग है। अभी तक नीतीश कुमार और तेजस्वी ने सिर्फ शपथ ली है। नीतीश तो मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लिए हैं लेकिन उप मुख्यमंत्री का कोई संवैधानिक पद नहीं होता है। यानी तेजस्वी यादव एक मंत्री के रूप में नीतीश कुमार के साथ शपथ लिए हैं। भले उनके शपथ के बाद इसे उप मुख्यमंत्री के रूप में पेश किया जा रहा हो, लेकिन अभी तेजस्वी बिना किसी विभाग के सिर्फ मंत्री हैं। ऐसे में जब मंत्रिमंडल का गठन हो जाएगा तब उन्हें विभागों का आवंटन होगा। जानकारों का कहना है कि तेजस्वी यादव भी मंत्रिमंडल गठन का इंतजार कर रहे होंगे ताकि उसके बाद वे विभाग संभालें और उसी समय इस गैर संवैधानिक पद उप मुख्यमंत्री के रूप में खुद को सोशल मीडिया पर भी पेश करें। हालांकि जिस जोरशोर से तेजस्वी को उप मुख्यमंत्री बताया गया उसके बाद भी उनका फेसबुक प्रोफ़ाइल एडिट नहीं होना उनके समर्थकों का रास नहीं आ रहा है। वहीं विरोधी मजे ले रहे हैं।


Find Us on Facebook

Trending News