अग्निपथ के विरोध में तेजस्वी यादव का बड़ा ऐलान, राजद ने किया विधानमंडल सत्र का बहिष्कार, कल देंगे धरना

अग्निपथ के विरोध में तेजस्वी यादव का बड़ा ऐलान, राजद ने किया विधानमंडल सत्र का बहिष्कार, कल देंगे धरना

पटना. अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे राष्ट्रीय जनता दल ने मंगलवार को बड़ा ऐलान करते हुए बिहार विधानमंडल के सत्र बहिष्कार की घोषणा की. साथ ही बुधवार को विपक्षी दलों के सदस्य विधानमंडल में कर्पूरी ठाकुर की प्रतिमा के समक्ष धरना देंगे. विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अग्निपथ योजना की कमियों को गिनाते हुए कहा कि लोकतंत्र के मंदिर में जब तक हमारी बातों को नहीं सुना जाएगा  तब तक हम सदन में नही जाएँगे. 

उन्होंने कहा कि मंगलवार को सदन के भोजनावकाश के बाद के दूसरे सत्र का हम बहिष्कार करते हैं. साथ ही बुधवार को कर्पूरी ठाकुर के मूर्ति के सामने विरोध स्वरूप धरना देंगे . उन्होंने कहा सत्ताधारी दल पर सदन में तानाशाह वाला रवैया अपनाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, हम सदन चलने देना चाहते हैं लेकिन सत्ताधारी दल सदन चलने नही देना चाहते हैं. अग्नि पथ योजना को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का स्टैंड क्या है ये साफ़ होना चाहिए. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने सरकार और मुख्यमंत्री पर गम्भीर आरोप लगाए हैं. ऐसे में इन मुद्दों पर नीतीश कुमार को अपनी स्थिति साफ़ करनी चाहिए. हमारे सवालों का जवाब देने के बदले सत्ता पक्ष की ओर से सदन चलाने में गम्भीरता नहीं दिखाई जा रही है. सदन में तानाशाह रवैया अपना कर चर्चा नहीं होने दे रहे हैं. हम इसका विरोध कर रहे हैं.  


अग्निपथ पर सत्ताधारी दल को घेरते हुए तेजस्वी ने कहा कि ये मुद्दा देश के साथ साथ बिहार का भी है.इस आंदोलन में कई छात्रों पर मामला दर्ज कर लिया गया है. कई कोचिंग सेंटर को परेशान किया जा रहा है. हमारी मांग है कि उन पर दर्ज मुक़द्दमे को वापस लिया जाए. उन्होंने कहा कि हमारी माँग रही है कि सदन में अग्निपथ पर चर्चा होनी चाहिए. अग्निपथ योजना युवाओं के लिए ठीक नहीं है. हमें इस पर चर्चा करनी चाहिए. हम सदन में इस बात की चर्चा करना चाहते हैं. लेकिन हमारी माँग को नामंज़ूर कर दिया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कह रही है कि ये बिहार का मामला नहीं है केंद्र का मामला है. अगर अग्निवीर योजना इतनी अच्छी है तो ये सिर्फ़ सैनिक पर क्यों लागू किया जा रहा है बड़े अधिकारियों पर क्यू नही लागू किया जा रहा है. क्या जो नियमित सेना के जवान को फ़ायदा मिलता है वही फायदा इन्हें मिलेगा. इसी बात की चर्चा हम सदन में चाहते थे.

उन्होंने कहा कि अग्निपथ को लेकर देश के युवा आशंकित हैं. इसी कारण युवाओं ने आंदोलन किया. युवाओं को चिंता थी अपने भविष्य को लेकर जब उनके मन में निराशा थी तब वो सड़क पर उतरे. आख़िर इन जैसे युवाओं का गुनाह क्या था ? क्या अपनी माँग को लेकर सड़क पर उतरना गुनाह है? आप ऐसे युवाओं को जेल में बंद कर देंगे. 


Find Us on Facebook

Trending News