विजय सिन्हा के विस स्पीकर चुने जाने पर बोले तेजस्वी- हम मर्यादा में रहने वाले लेकिन आज लोकतंत्र की हत्या की जा रही....

विजय सिन्हा के विस स्पीकर चुने जाने पर बोले तेजस्वी- हम मर्यादा में रहने वाले लेकिन आज लोकतंत्र की हत्या की जा रही....

PATNA: बिहार विधानसभा के तीसरे दिन की कार्यवाही शुरू हुई। तीसरे दिन शेष बचे चार सदस्यों का शपथ ग्रहण हुआ।इसके बाद विधान सभा अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया शुरू हुई। प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर प्रक्रिया शुरू कराई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विस में रहने पर भारी बवाल शुरू हुआ। तेजस्वी यादव ने कहा कि विस अध्यक्ष चुनाव में नीतीश कुमार का क्या काम.वे तो इस सदन के सदस्य भी नहीं हैं।इस पर प्रोटेम स्पीकर जीतनराम मांझी ने हंगामा करने वाले सदस्यों और तेजस्वी यादव को आईना दिखा दिया। उन्होंने कहा कि इसी सदन में जब राबड़ी देवी सीएम थीं और लालू प्रसाद एमपी थे तो वे भी सदन में बैठे थे। जब राजद सदस्यों ने हंगामा नहीं रोका इसके बाद प्रोटेम स्पीकर ने वोटिंग के परिणाम की घोषणा कर दी। इस तरह से एनडीए प्रत्याशी विजय सिन्हा जीत गए। एनडीए प्रत्याशी के पक्ष में 126 मत मिले जबकि विपक्ष के उम्मीदवार को 114 वोट....।

सीएम नीतीश ने दी बधाई

प्रोटेम स्पीकर ने परिणाम की घोषणा की। इसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नवनिर्वाचित अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा को आसन तक लाये और कुर्सी पर बिठाया।इसके बाद अपने संबोधन में सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि अध्यक्ष का पद दल से ऊपर होता है। अध्यक्ष सबके लिए होते हैं। विजय कुमार सिन्हा अनुभवी नेता हैं और सबको साथ लेकर चलेंगे। वहीं बिहार के दोनों डिप्टी सीएम और संसदीय कार्य मंत्री ने भी उन्हें बधाई दी.

हमलोग मर्यादा में रहने वाले-तेजस्वी

वहीं तेजस्वी यादव ने विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव पर कहा कि आप सब लोगों को साथ लेकर चलें। बिहार लोकतंत्र की जननी है। आज लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। आप सबलोगों के संरक्षक हैं. आपको सबको लेकर चलना होगा,सबको संरक्षण देना होगा। हम झुठ और असत्य का साथ नहीं दे सकते,हम चुप नहीं बैठ सकते। हमसब लोगों ने जनादेश को स्वीकार किया है। हमलोग मर्यादा में रहने वाले लोग हैं. सत्ता में रहने वाले लोगों को इतना अहसास होना चाहिए कि नियम-कानून का माखौल नहीं उड़ाना चाहिए।  

भारी हंगामा के बीच अध्यक्ष के नाम की घोषणा

प्रोटेम स्पीकर ने पहले सर्वसम्मति से अध्यक्ष पद के चुनाव करने को कहा,लेकिन विपक्ष ने इसे खारिज कर दिया। इसके बाद मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई।सदन में सीएम नीतीश कुमार के रहने पर राजद सदस्यों ने आपत्ति उठाई और जमकर हंगामा करने लगे। राजद के विधायक आसन के सामने आकर नारेबाजी और हंगामा करने लगे। तेजस्वी यादव और महागठबंधन के सदस्य वेल में पहुंच गए और बिना मुख्यमंत्री के सदन से गए चुनाव संभव नहीं। 

तेजस्वी यादव ने कहा कि वोट के दौरान नीतीश कुमार विधानसभा के अंदर नहीं बैठ सकते। यही नियम है,लेकिन सदन में नियम का पालन नहीं किया जा रहा ऐसे में कायदे-कानून को फाड़ कर फाड़ देना चाहिए। वहीं संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री हैं और सदन के नेता हैं. ऐसे में वे सदन में रह सकते हैं. सिर्फ वे मतदान में भाग नहीं ले सकते। वहीं प्रोटेम स्पीकर ने भी आसन से कहा कि वे सदन के नेता हैं.लिहाजा सदन में रह सकते हैं। उन्होंने सदन में हंगामा कर रहे विपक्षी सदस्यों से कहा कि आप लोग शांत होइए  ताकि अध्यक्ष पद का चुनाव हो सके।

Find Us on Facebook

Trending News