प्रदेश में रोजगार को लेकर तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना, कहा- एक साल में 15 लाख नौकरियां गयी, 19 लाख का दावा निकला झूठा

प्रदेश में रोजगार को लेकर तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना, कहा- एक साल में 15 लाख नौकरियां गयी, 19 लाख का दावा निकला झूठा

Desk. बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने रोजगार को लेकर एक बार फिर नीतीश सरकार को निशाने पर लिया है. उन्होंने कहा कि विगत एक वर्ष में बिहार में 15 लाख नौकरियां और रोजगार समाप्त हुए हैं. बल्कि एनडीए सरकार का 19 लाख नौकरियां और रोजगार देने का वादा किया था. युवा विरोधी एनडीए सरकार 16 वर्षों से बेरोजगारी मिटाने और नौकरी देने वाली एक सुदृढ़ नीति भी नहीं बना पाई है. नौकरी देना तो बहुत दूर की बात है अब ये नौकरी छिनने में लगे हैं.

प्रदेश में नियमित नौकरियों में इतना भ्रष्टाचार और घूसखोरी है कि कोई योग्य अभ्यर्थी इसमें अपनी जगह  नहीं बना पाता है. नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार इतनी नाकारा हो चुकी है कि विगत 16 वर्षों में बिहार में कोई उद्योग-धंधे नहीं लगे, कोई पूंजी निवेश नहीं हुआ, संगठित-असंगठित क्षेत्र में रोजगार और नौकरियों के अवसर उत्पन्न हुए ही नहीं क्योंकि सरकार की तरफ़ से कोई सकारात्मक पहल नहीं की जा रही है.

उन्होंने बिहार में एनडीए सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि कुटीर और घरेलू उद्योगों के लिए सरकारी अनुदान और प्रोत्साहन राशि पाने में घूसखोरी, अफसरशाही और लाल फीताशाही की इतनी दीवारें हैं कि बिना भाई भतीजावाद और रिश्वत के इसे पाना असंभव है.

Find Us on Facebook

Trending News