चिराग के साथ आए तेजस्वी! CM NITISH से पूछा - सिर्फ जमुई में ही क्यों की जा रही है कोरोना घोटाले की जांच

चिराग के साथ आए तेजस्वी! CM NITISH से पूछा  - सिर्फ जमुई में ही क्यों की जा रही है कोरोना घोटाले की जांच

पटना। चारों तरफ से बुरी तरह घिरे लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान को तेजस्वी यादव का साथ मिल गया है। इससे पहले कुछ और समझें, यह हम बता दें कि यह साथ किसी सियासी गठबंधन को लेकर नहीं है. बल्कि कोरोना घोटाले को लेकर चल रही जांच को लेकर है, जिस पर तेजस्वी यादव से सवाल उठाया है। तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए पूछा है कि जब कोरोना घोटाला पूरे प्रदेश में हुआ है, तो सिर्फ जांच जमुई जिले में क्यों की जा रही है। तेजस्वी का यह सवाल इसलिए भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है कि क्योंकि चिराग पासवान जमुई लोकसभा सीट से सांसद हैं और फिलहाल जदयू उनकी चारों तरफ से घेराबंदी करने में लगी हुई है। गुरुवार को ही लोजपा के पांच दर्जन से अधिक कार्यकर्ता जदयू में शामिल हुए हैं।

तेजस्वी के बयान से साफ जाहिर है कि कहीं न कहीं नीतीश सरकार जानबूझकर चिराग पासवान को परेशान करने की कोशिश कर रही है। तेजस्वी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि बिहार सरकार कह रही है कि मुख्यतः एक ज़िला जमुई में ही फर्जी टेस्ट हुए जबकि हर जिले से फर्जी कोरोना टेस्ट के प्रमाण मिल रहे हैं। बाक़ी जगह कारवाई क्यों नहीं? उन्होंने लिखा है कि   70-80 फ़ीसदी टेस्ट कागजों पर ही हुए है। कोरोना जाँच घोटाले में किसे बचाया जा रहा है?



चिराग को मिलेगा फायदा

जिस तरह से तेजस्वी यादव ने जमुई को लेकर सवाल उठाए हैं, उससे चिराग को मजबूती मिलेगी। हालांकि तेजस्वी ने खुलकर चिराग का नाम नहीं लिया है। लेकिन उनके ट्विट और बिहार में लोजपा के अंदरखाने में फूट डालने में जदयू को मिली कामयाबी कहीं न कहीं यह जाहिर कर रही है कोरोना घोटाले के नाम पर चिराग को उनके ही लोकसभा क्षेत्र में बदनाम करने की कोशिश की जा रही है।



Find Us on Facebook

Trending News