शराबबंदी को लेकर तेजस्वी पर सीएम नीतीश के मंत्रियों का दोतरफा हमला - कानी उंगली पर बिहार को उठाए हुए हैं, उनको बयान को गंभीरता से लेने की जरुरत नहीं

शराबबंदी को लेकर तेजस्वी पर सीएम नीतीश के मंत्रियों का दोतरफा हमला - कानी उंगली पर बिहार को उठाए हुए हैं, उनको बयान को गंभीरता से लेने की जरुरत नहीं

पटना. शराबबंदी पर विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने मंत्री रामसूरत राय के इस्तीफे की मांग की है। जिसको लेकर अब सीएम नीतीश के दो मंत्रियों ने उन पर दो तरफ हमला बोला है। एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे मंत्री अमरेंद्र प्रताप और संजय झा ने कहा तेजस्वी यादव की बातों को गंभीरता से नहीं लिया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री के दोनों सिपाहसलारों ने कहा कि मंत्री रामसूरत राय पर तेजस्वी यादव ने आरोप लगाए हैं, वह पूरी तरह से झूठे और बेबुनियाद है, जिनका कोई आधार नहीं है। 


मंत्री संजय झा ने कहा सभी जानते हैं कि बिहार की पुलिस ने कहां कहां से शराब के धंधे में लिप्त लोगों को पकड़ा है। हमारी सरकार द्वारा लगातार शराब कारोबारियों को खिलाफ की जा रही कार्रवाई से तेजस्वी यादव हताश हैं, उन्हें कुछ सूझ नहीं रहा है। सदन में भी कई बार मुख्य मुद्दों पर बात करना पसंद नहीं करते हैं। 

वहीं मंत्री अमरेंद्र प्रताप ने भी तेजस्वी यादव पर हमला किया। उन्होंने कहा कि  तेजस्वी यादव खुद कानी उंगली पर बिहार को उठाए हुए हैं तो इसके लिए कोई क्या कर सकता है। उन्होंने कहा कि जो गलती करेगा, कानून उस पर कार्रवाई करेगा। उन्होंने कहा रामसूरत राय पर कोई संकट हैं। उन्होंने कहा कि तेजस्वी को पता ही नहीं है कि क्या बोलना चाहिए और क्या करना चाहिए

बता दें कि तीन दिन पहले मंत्री रामसूरत राय के पिता द्वारा संचालित स्कूल परिसर से शराब की बोतलें बरामद की गई थी। जिसको लेकर विपक्ष के नेता उनके इस्तीफे की मांग की थी। तेजस्वी ने कहा था कि अगर रामसूरत राय इस्तीफा नहीं देते हैं तो विधानसभा सत्र को नहीं चलने दिया जाएगा। 


Find Us on Facebook

Trending News