चुनाव से पहले फिर चर्चा में DNA,तेजस्वी ने सीएम नीतीश से पूछा-रिपोर्ट का क्या हुआ ?

चुनाव से पहले फिर चर्चा में DNA,तेजस्वी ने सीएम नीतीश से पूछा-रिपोर्ट का क्या हुआ ?

Patna : कृषि बिल के विरोध ने उतरे नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार के साथ साथ केंद्र की मोदी सरकार पर ताबड़तोड़ कई हमले किए हैं. इसी दौरान तेजस्वी ने DNA का जिक्र किया. सीएम नीतीश और पीएम मोदी के साथ वाले पोस्टर पर वार करते हुए तेजस्वी ने कहा कि वो दिन कहां गए जब DNA पर सवाल उठाए गए थे. हाथ से थाली छीन ली गयी थी. सीएम नीतीश को बताना चाहिए कि DNA रिपोर्ट का क्या हुआ ?  बिहार के लोगों ने 2015 में बाल और नाखून क्यों कटवाये थे?

तेजस्वी ने आगे कहा कि एनडीए के डबल इंजन की सरकार किसान, मजदूर और नौजवान विरोधी है. केंद्र सरकार ने जो तीन कृषि विधेयक लाए, उसका देशभर के किसान विरोध कर रहे हैं. इससे नाराज केंद्र सरकार की सहयोगी मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

सियासी हमला बोलते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश जी प्रधानमंत्री के चेहरे का इस्तेमाल कर रहे हैं. नीतीश जी हार गए हैं, हताश हो गए हैं, ऐसे में अब उनका सहारा ले रहे हैं. उनकी हालत नाजुक हो गई है. बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय के वीआरएस लेने के सवाल पर तेजस्वी ने कहा कि एक व्यक्ति कहां क्या करता है उसपर बोलना समय बर्बाद करने जैसा है.

इस विधेयक से बिहार के किसान भी हताश हो गए हैं. आने वाले समय में बिहार के किसान उनसे चुन-चुनकर बदला लेंगे. तेजस्वी यादव ने उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वे कहते हैं कि कुछ बिहारी मजे लेने के लिए बाहर जाते हैं. यह कह कर सुशील मोदी ने किसानों, मजदूरों और गरीबों का अपमान किया है. आने वाले समय में बिहार की जनता उन्हें भी सबक सिखाएगी. आपको बता दें कि तेजस्वी यादव किसान बिल को लेकर सरकार के खिलाफ हल्लाबोल करने वाले हैं. 25 सितंबर को तेजस्वी और उनकी पार्टी सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करेगी. 



Find Us on Facebook

Trending News