तेजस्वी का सीधा सवालः सत्ताधारी कुनबा बताए, क्या यही है नीतीश कुमार का “ठीके तो है” ब्रांड ?

तेजस्वी का सीधा सवालः सत्ताधारी कुनबा बताए, क्या यही है नीतीश कुमार का “ठीके तो है” ब्रांड ?

पिछले 24 घंटों में हुई भारी बारिश से पूरा पटना बेहाल है।अधिकांश मुहल्लों में भारी जलजमाव हो गया है।कई इलाकों में तो ये हालात हो गए हैं कि सड़कों पर नाव चलाने की स्थिति उत्पन्न हो गई है। पटना में इन हालात के बीच अब इस पर राजनीति भी शुरू हो गई है।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहार की सरकार पर सीधा हमला बोला है।उन्होंने कहा है कि नीतीश जी के अथक सुशासनी प्रयास से कथित स्मार्ट सिटी पटना के 80 फ़ीसदी घरों में बारिश और नालों का गंदा पानी घुस चुका है। सभी जन व्यवस्थाएँ ध्वस्त है। 15 वर्ष से ड्रेनेज प्रोजेक्ट के नाम पर सुशासनी बाबुओं ने अरबों करोड़ ड़कार लिए।

हर बारिश में पटना डूब जाता है। सभी स्कूल, कॉलेज और अस्पतालों में मछली तैरने लग जाती है। और आदतन माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके बड़बोले मंत्रीगण जवाबदेही लेने की बजाय चमकी बुखार, बाढ़, सुखाड़ और जलजमाव के लिए चूहों या प्रकृति को दोषी ठहराने में व्यस्त हो जाते है।

ये भी पढ़ें--- पटना में आम हीं नहीं बल्कि खास के घर भी डूब गए.... मंत्रियों के बंगला में भी पानी,तस्वीर देखिए

साथियों, ठहर कर सोचिए और समझिए, क्या सरकार और उनके नियोजित बिकाऊ प्रवक्ताओं द्वारा हर बात पर विपक्ष को दोष देने से आपकी मूलभूत समस्याओं का समाधान हो रहा है? अपने आप से यह सवाल पूछकर फिर सरकार पर सवाल दागिए। सभी बिहारवासियों को सोचना चाहिए कि 15 वर्ष की इस सुशासनी सरकार ने विपक्ष को गाली देने के अलावा शिक्षा, स्वास्थ्य और विकास के नाम पर क्या किया है? हर तरफ़ भ्रष्टाचार का बोलबाला है। नीतीश जी की अगुवाई में संगठित भ्रष्टाचार चरम पर है।

सत्ताधारी कुनबा बताए, क्या यही नीतीश कुमार का “ठीके तो है” ब्रांड है?

Find Us on Facebook

Trending News