बिहार में लोगों को नून-रोटी नसीब नहीं और ये महोदय टीवी पर बिस्कुट-केक खाने की परिकथा सुना रहे

बिहार में लोगों को नून-रोटी नसीब नहीं और ये महोदय टीवी पर बिस्कुट-केक खाने की परिकथा सुना रहे

पटनाः नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सुशील मोदी को खूब खरी-खोटी सुनाई। तेजस्वी ने मोदी पर अटैक करते हुए कहा कि बिहार में लोगों को नून-रोटी नसीब नहीं हो रही है और ये महोदय टीवी पर बिस्कुट-केक खाने की परिकथाएँ सुना रहे है।

तेजस्वी ने एक के बाद एक कई ट्वीट किया और निशाना इस बार सीधे सुशील मोदी रहे।तेजस्वी ने कहा कि ...बिहार के सबसे बड़े कुतर्क मास्टर सुशील मोदी कभी कहते है कि सावन-भादो की वजह से मंदी है। कभी कहते है पितृ पक्ष के कारण मंदी है, कभी खरमास, कभी बाढ़-सुखाड़ तो कभी बिगड़ती क़ानून व्यवस्था-प्राकृतिक आपदा की वजह से मंदी है। 15 साल में हमारी NDA सरकार शिक्षा, स्वास्थ्य और रोज़गारी पर काम नहीं कर पाई इसलिए भी आर्थिक मंदी है। इनके बेतुके कुतर्कों का भावार्थ है कि युवा घबराए नहीं अगले 30 वर्ष में नौकरी का इंतज़ाम कर देंगे।

15 साल राज करने के बाद भी अफ़वाह महाशय कह रहे है कि बिहार ग़रीब राज्य है। सरकार के लिए इससे शर्मनाक बयान और क्या हो सकता है? नीतीश सरकार स्वयं विफलताएँ स्वीकार कर अपनी प्रचंड नाकामी की अपनी ही ज़ुबानी गवाही दे रही है। बिहार में लोगों को नून-रोटी नसीब नहीं हो रही है और ये महोदय टीवी पर बिस्कुट-केक खाने की परिकथाएँ सुना रहे है।

बता दें कि सुशील मोदी ने दो दिन पहले एक कार्यक्रम में मंदी को लेकर कहा था कि देश में वास्तविक रूप में मंदी नही है ।बल्कि इस मौसम में खरीद-बिक्री में कमी दिखती है, इसका मुख्य वजह पितृपक्ष और सावन-भादो का मौसम है।

Find Us on Facebook

Trending News