18 साल के इस बैडमिंटन खिलाड़ी ने स्कोटिश ओपन जीता, तीन महीने में लगातार चौथी जीत

18 साल के इस बैडमिंटन खिलाड़ी ने स्कोटिश ओपन जीता, तीन महीने में लगातार चौथी जीत

DESK: भारत के खेल प्रेमियों के लिए एक और खुसखबरी सामने आई  है ।भारतीय बैडमिंटन के उभरते और चमकते सितारे लक्ष्य सेन ने स्काटिश ओपन को जीत लिया है। लक्ष्य ने पुरुष एकल के फाइनल में ब्राजील के यगोर कोएल्हो के ख़िलाफ़  शानदार जीत दर्ज की है। इस जीत के साथ ही उन्होंने तीन महीने में लगातार चौथा ख़िताब जीता है।लक्ष्य और यगोर के बीच यह  मुक़ाबला 56 मिनट तक चला।एक कड़े मुकाबले में इन्होंने योगोर को 18-21, 21-18, और 21-19 से हराया।इस जीत के बाद लक्ष्य सेन 40 वें नंबर के खिलाड़ी बन जाएंगे।


18 साल के लक्ष्य सेन उत्तराखंड में जन्में  हैं। इससे पहले लक्ष्य ने सरलोरलक्स ओपन, डच ओपन और बेल्जियम ओपन में अपने शानदार खेल से ख़िताबजीता था। हालांकि आयरिश ओपन के दूसरे दौर में उनको शिकस्त भी झेलनी पड़ी थी। गौरतलब है उसके बाद लक्ष्य ने शानदार वापसी की और फ्रांस के क्रिस्टो पोपोव को हराया।


इस भारतीय खिलाड़ी ने अपने खेल अभियान की शुरुआत ऑस्ट्रिया के लूका व्रेबर को सीधे गेम में हराकर किया। उसके बाद हमवतन  किरन जार्ज को हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। लक्ष्य दुनिया के 41वें नंबर के खिलाड़ी होते हुए 6ठे नंबर के खिलाड़ी ब्रायन यंग को सीघे गेम में हराया और फिर सेमिफाइनल में फ्रांस के क्रिस्टो पोपोव को हराया।



 अगर इस मुक़ाबले की बात करें तो लक्ष्य की शुरुआत थोड़ी धीमी थी लेकिन इसके बाद 10-8 की बढ़त बनाने में सफल रहे थे। हालांकि उसके बाद कोएल्हो वापसी करते हुए गेम में वापस आ गए और उन्होंने 14-10 से बढ़त बना ली। इस तरह से कोएल्हो पहला गेम जीतने में सफल रहे। वहीं लक्ष्य ने शानदार शुरूआत करते हुए 7-0 से आगे चल रहे थे और अंत ब्राजील के खिलाड़ी ने इस गेम को 17-17 से बराबरी पर ले आए। लक्ष्य ने अगले पांच अंक में  से चार अंक अपने नाम कर लिया। और यह गेम एक-एक की बराबरी पर पहुंच गई।तीसरा और निर्णायक गेम खासा रोमाचंक रहा शुरुआत में कोएल्हो 11-8 से आगे थे। ऐसे में लक्ष्य ने वापसी करते हुए पहले तो यह गेम बराबरी की फिर मैच जीत कर  खिताब के असली दावेदार बन गए।

Find Us on Facebook

Trending News