छह हजार करोड़ की लागत से बदलेगी ग्रामीण और शहरी स्वास्थ्य केंद्रों की सूरत, 15वें वित्त आयोग में केंद्र से मिलेगी राशि

छह हजार करोड़ की लागत से बदलेगी ग्रामीण और शहरी स्वास्थ्य केंद्रों की सूरत, 15वें वित्त आयोग में केंद्र से मिलेगी राशि

PATNA : बिहार की लचर स्वास्थ्य केंद्रों को सुधारने के लिए केंद्र सरकार से 6017 करोड़ रुपए मिलेगा। इस बात की जानकारी बिहार सरकार के पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने दी है। उन्होंने बताया है कि यह राशि 15वें वित्त 

इस तरह मिलेगा पैसा

पंचायती राज मंत्री ने बताया कि केंद्र में मिलनेवाले पैसों से  डायग्नोस्टिक इंफ्रास्ट्रक्चर, प्राइमरी हेल्थ केयर, हेल्थ सब सेंटर, रूरल पीएचसी अर्बन पीएचसी ब्लॉक लेवल पब्लिक हेल्थ यूनिट अर्बन हेल्थ वैलनेस सेंटर बिल्डिंग लेस पीएचसी सब सेंटर वैलनेस सेंटर रूरल पीएससी सब सेंटर आदि स्वास्थ्य क्षेत्र के विकास का काम किया जाएगा। उन्होंने बताया वित्तीय वर्ष 2021-22 में इन कार्यों पर 1133 करोड़, 2022-23 में 1133 करोड़ और 2023-24 में 1189 करोड़, 2024-25 में 1249 करोड़ और 2025-26 में 1311 करोड़ प्राप्त होगा।

1748  करोड़ भवन निर्माण पर

छह हजार करोड़ की राशि में 1748 करोड़ सिर्फ स्वास्थ्य केंद्रों के भवन निर्माण पर खर्च किए जाएंगे। वहीं शहरी स्वास्थ्य केंद्रों और वेलनेस सेंटर 984.67 करोड़ रुपए और ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्रों के इन्फ्रास्ट्रक्चर पर एक हजार करोड़ से अधिक की राशि खर्च की जाएगी। वहीं सब सेंटर  के विकास के लिए 834.41करोड़, पीएचसी  के लिए 917.72 करोड़ और अर्बन पीएचसी पर 229.40 करोड़ की राशि खर्च की जाएगी

सम्राट चौधरी ने कहा कि इससे पूर्व बिहार के स्वास्थ्य क्षेत्र में पीएम केयर के माध्यम से 100 स्वास्थ्य संस्थानों में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए गए |देश के प्रधानमंत्री आदरणीय श्री नरेंद्र मोदी जी, देश के पंचायती राज मंत्री आदरणीय श्री गिरीराज सिंह जी एवं 15वें वित्त आयोग के अध्यक्ष आदरणीय श्री एनके सिंह जी को विशेष रूप से धन्यवाद व साधुवाद| जिन्होंने इतनी बड़ी रकम ग्रामीण स्वास्थ्य एवं शहरी स्वास्थ्य को  सुदृढ़ करने के लिए बिहार जैसे प्रदेश को दिया है|


Find Us on Facebook

Trending News