नप गए राजद की महिला कंमाडर रितु जायसवाल और उनके पति पर पैसे छिनने का आरोप लगानेवाले BDO, निर्वाचन विभाग ने किया जिलाबदर

नप गए राजद की महिला कंमाडर रितु जायसवाल और उनके पति पर पैसे छिनने का आरोप लगानेवाले BDO, निर्वाचन विभाग ने किया जिलाबदर

PATNA : राजद की प्रवक्तात रितु जाएसवाल और उनके पति अरुण कुमार चौधरी के खिलाफ जबरन जेब से पैसे निकालने का आरोप लगानेवाले सीतामढ़ी जिले के सोनबरसा के BDO ओम प्रकाश को जिलाबदर कर दिया गया है। उक्त कार्रवाई राज्य निर्वाचन विभाग की तरफ से की गई है। जारी आदेश के अनुसार बीडीओ चुनाव खत्म होने तक जिले से बाहर रहेंगे और इस दौरान निर्वाचन से जुड़े किसी गतिविधि का हिस्सा नहीं होंगे।

रितु जायसवाल व उनके पति ने की थी शिकायत

सोनबरसा बीडीओ के खिलाफ यह कार्रवाई राजद प्रवक्ता रितु जाएसवाल व उनके पति अरुण कुमार चौधरी की शिकायत पर की गयी है। अरुण कुमार चौधरी आईएएस अधिकारी रह चुके हैं और ऐच्छिक सेवानिवृत्ति के बाद सिंहवाहिनी पंचायत से मुखिया का चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने बीडीओ पर झूठी शिकायत दर्ज कराने का आरोप लगाया था।

वीडियो में दिखी पूरी सच्चाई

एक दिन पहले बीडीओ ने सोनबरसा थाने में यह शिकायत की थी रितु जायसवाल व उनके पति अरुण कुमार अपने समर्थकों के साथ उनकी गाड़ी को घेर लिया और उनके साथ गाली गलौज की थी। इस दौरान उन्होंने जान से मारने की धमकी दी  और जेब से दो हजार रुपए भी निकाल लिए। मामला सामने आने के बाद रितु जायसवाल ने पूरी घटना का एक वीडियो ट्विटर पर शेयर किया, जिसमें बीडीओ को कार में बैठकर हंसते हुए लोगों की भीड़ का वीडियो बनाते हुए दिखाया गया। वीडियो में साफ दिखता है कि बिहार के अधिकारी की गाड़ी को कोई नुकसान नहीं हुआ और वे मुस्कुराते हुए वीडियो बनाकर सीन क्रिएट कर रहे हैं। इस वीडियो के साथ रितु जायसवाल ने शिकायत की थी कि रितु जायसवाल ने कहा था कि प्रशासन उनके पति को हराने की साजिश कर रहा है। सिंहवाहिनी की महिलाओं ने BDO को पैसे देने के लिए शनिवार को गांव में घूम-घूम कर एक-एक रुपए चंदा भी किया था।

शिकायत पर हुई कार्रवाई

रितु जायसवाल की शिकायत को निर्वाचन विभाग ने गंभीरता से लिया है। राज्य निर्वाचन आयोग ने सीतामढ़ी जिला के सोनबरसा के निर्वाची पदाधिकारी -सह- BDO ओम प्रकाश यादव को निर्वाचन कार्य से हटाते हुए सीतामढ़ी के जिला निर्वाचन पदाधिकारी (पंचायत) को आदेश दिया है कि सोनबरसा के निर्वाची पदाधिकारी को 5 दिसंबर के प्रभाव से निर्वाचन प्रक्रिया की समाप्ति तक अनिवार्य अवकाश स्वीकृत करते हुए जिला से बाहर रहने का आदेश जारी करें। 

आयोग ने इसका अनुपालन करते हुए 24 घंटे के अंदर रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया है। आयोग ने BDO पर लगे पक्षपातपूर्ण रवैये के आरोप को गंभीरता से लिया है। आयोग ने बाजपट्टी के BDO संजीत कुमार को सोनबरसा के निर्वाची पदाधिकारी के रुप में प्रतिनियुक्त करने का भी आदेश दिया है।

Find Us on Facebook

Trending News