REET की परीक्षा में छह लाख की चप्पल पहनकर पहुंचा अभ्यर्थी, जांच हुई तो अधिकारी भी रह गए हैरान

REET की परीक्षा में छह लाख की चप्पल पहनकर पहुंचा अभ्यर्थी, जांच हुई तो अधिकारी भी रह गए हैरान

JAIPUR : एक सामान्य वर्ग का आदमी मुश्किल से हजार से पांच हजार तक के जूते चप्पल अफोर्ड करता है। लेकिन राजस्थान में REET की परीक्षा में शामिल कुछ अभ्यर्थी छह लाख की चप्पल पहनकर पहुंचे। इन चप्पलों के बारे में जानकारी मिलने के बाद जब परीक्षा ले अधिकारियों ने जांच की तो वह भी हैरान रह गए। 

दरअसल, यह पूरा मामला परीक्षा में नकल करानेवाले गैंग से जुड़ा है। जांच से बचने से लिए इन गैंग ने ऐसी चप्पल इजाद की है, जिनमें ब्लूटूथ डिवाइस लगा हुआ है। सॉल्वर गैंग ने इन चप्पलों की कीमत छह लाख रुपए रखी थी। कुछ परीक्षार्थियों ने तो इन ब्लूटूथ डिवाइस फिटेड चप्पलों के लिए 6 लाख रुपये तक का भुगतान भी किया था। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद, आरईईटी परीक्षार्थियों को परीक्षा देने के लिए इन साधनों का सहारा लेने से नहीं रोका जा सका।

अजमेर के छात्र के पकड़े जाने के बाद हुआ खुलासा

 अजमेर के किशनगढ़ में एक परीक्षार्थी ब्लूटूथ डिवाइस को अपनी चप्पल में छिपाकर परीक्षा केंद्र तक ले गया। हालांकि, इससे पहले कि वह परीक्षा में बैठ पाता, पुलिस ने उसे पकड़ लिया और अब गहन जांच कर रही है। अजमेर जिला पुलिस अधीक्षक ने सभी आवेदकों को परीक्षा केंद्रों से 200 मीटर दूर चप्पल उतारने के आदेश जारी किए हैं।

बंद करनी पड़ी इंटरनेट सेवा

रविवार को पूरे राजस्थान से ऐसी कई घटनाओं की सूचना मिलने के बाद, धोखाधड़ी को रोकने के लिए कुछ जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने सहित कड़े सुरक्षा उपाय किए गए थे। बीकानेर में शिक्षकों के चयन के लिए परीक्षा में अनुचित साधनों का सहारा लेने के लिए ब्लूटूथ उपकरणों से लैस चप्पल पहने पाए जाने के बाद पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था। कई अन्य डमी उम्मीदवारों को भी विभिन्न जिलों में गिरफ्तार किया गया था।  परीक्षार्थियों द्वारा धोखाधड़ी को बढ़ावा देने में कथित संलिप्तता के लिए दो हेड कांस्टेबल और एक कांस्टेबल को भी निलंबित कर दिया गया था।

 

Find Us on Facebook

Trending News