बिहार में कोरोना जांच में 'फर्जीवाड़े' का मामला राज्यसभा में उठा, मनोज झा की मांग को सभापति वेंकैया नायडू ने भी ठहराया जायज

बिहार में कोरोना जांच में 'फर्जीवाड़े' का मामला राज्यसभा में उठा, मनोज झा की मांग को सभापति वेंकैया नायडू ने भी ठहराया जायज

PATNA: बिहार में कोरोना जांच में कथित फर्जीवाड़े का मामला आज शुक्रवार को राज्यसभा में भी उठा. राजद के राज्यसभा सांसद मनोज झा ने इस मामले को सदन में उठाते हुए जांच की मांग की है. मनोज झा ने केंद्र सरकार से पूरे मामले की जांच की मांग की। राजद सांसद की मांग को जायज करार देते हुए राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने भी मामले को गंभीर बताया और स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से मामले की जांच करवाने का आग्रह किया।  

बता दें मीडिया में यह खबर आई कि बिहार में कोरोना जांच की संख्या बढ़ाने को लेकर फर्जीवाड़ा किया गया है। इसके बाद तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री पर निशाना । उन्होंने कोरोना जांच की संख्या को फर्जीवाड़ा कर बढ़ाने का आरोप लगाया था.तेजस्वी ने गुरुवार कहा था कि मैंने पहले ही बिहार में कोरोना घोटाले की भविष्यवाणी की थी. जब हमने घोटाले का डेटा सार्वजनिक किया था, तो सीएम ने हमेशा की तरह उसे नकार दिया था. 

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव पर बिना नाम के किया था अटैक

तेजस्वी यादव ने कहा था कि मुख्यमंत्री ने आंकड़े नहीं बदलने पर तीन स्वास्थ्य सचिवों का तबादला कर एंटीजेन का वो “अमृत” मंथन किया कि 7 दिनों में प्रतिदिन टेस्ट का आंकड़ा 10 हज़ार से 1 लाख और 25 दिनों में 2 लाख पार करा दिया.

Find Us on Facebook

Trending News