केंद्र सरकार ने गया डीएम के डिस्टिक स्किल डेवलपमेंट प्लान को माना अव्वल, अवार्ड ऑफ एक्सीलेंट से किये गए सम्मानित

केंद्र सरकार ने गया डीएम के डिस्टिक स्किल डेवलपमेंट प्लान को माना अव्वल, अवार्ड ऑफ एक्सीलेंट से किये गए सम्मानित

GAYA : जिला पदाधिकारी गया डॉ० त्यागराजन एसएम को जिले में कौशल विकास योजना क्षेत्र में अवार्ड ऑफ एक्सीलेंट पुरस्कार से सचिव कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार द्वारा सम्मानित किया गया। भारत सरकार कौशल विकास मंत्रालय के द्वारा भारत के प्रत्येक जिले से डिस्ट्रिक्ट स्किल डेवलपमेंट प्लान की मांग की गई थी। जिसके पश्चात जिला कौशल विकास समिति के मेंबर सेक्रेटरी असिस्टेंट डायरेक्टर एंप्लॉयमेंट के नेतृत्व में डिस्टिक स्किल डेवलपमेंट के द्वारा 24 जनवरी 2022 को एक प्लान तैयार कर कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय भारत सरकार को प्रेषित किया गया। देशभर के 534 जिलों में गया ज़िले के डिस्टिक स्किल डेवलपमेंट प्लान को अव्वल माना गया एवं इसके लिए गया जिला को अवार्ड ऑफ एक्सीलेंट के लिए चयन किया गया। जिला कौशल विकास प्लान में मशरूम उत्पादन, पत्थर कट्टी, स्टोन, टूरिज्म, हैंडलूम एवं कृषि पर विशेष रूप से फोकस किया गया था।

जिला पदाधिकारी डॉ० त्यागराजन एसएम ने कहा कि गया जिले में दो प्रकार की योजना को प्रमुखता से लिया गया। जिसमें बोधगया स्थित महाबोधि मंदिर तथा विष्णुपद मंदिर में चढ़ने वाले फूल, जो विशेषकर अक्टूबर महीने के बाद काफी बड़े पैमाने में चढ़ाए जाते हैं। उन सभी फूलो से गुलाल एवं अगरबत्ती बनाने संबंधि कार्य को स्थानीय लोगों में काफी बढ़ावा दिया गया है। उसी प्रकार पत्थर कट्टी के लोगों को बोधगया में टैग किया गया। ताकि विभिन्न देशों से आने वाले विदेशी पर्यटक, पत्थर कट्टी के लोगों द्वारा निर्मित विभिन्न स्टैचू/ मूर्तियां की खरीदारी हो सके। 

इसके उपरांत मंत्री कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार धर्मेंद्र प्रधान की अध्यक्षता में विभिन्न जिलों के 17 जिला पदाधिकारियों के साथ एक घंटे का इंटरेक्शन  प्रोग्राम किया गया। जिला पदाधिकारी गया द्वारा मंत्री भारत सरकार एवं अन्य पदाधिकारियों के समक्ष गया जिला में इस संबंध में किए जा रहे कार्य के बारे में प्रस्तुतीकरण के माध्यम से विस्तार से बताया गया।

Find Us on Facebook

Trending News