नवादा में हत्या के प्रयास में अपराधी को 10 साल सश्रम कारावास की सजा, मामले में चार हुए बरी

नवादा में हत्या के प्रयास में अपराधी को 10 साल सश्रम कारावास की सजा, मामले में चार हुए बरी

नवादा. हत्या के प्रयास के मामले में एक अभियुक्त को 10 वर्ष का सश्रम कारावास व अर्थदंड की सजा सुनाई गई है। गुरुवार को द्वादश अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश अमित कुमार पांडेय ने यह सजा सुनाई है। नवादा जिले के कादिगंज ओपी क्षेत्र के हसनपुर निवासी भोनू यादव को भादवि की धारा 307 में यह सजा सुनाई गई।

अनुमंडल अभियोजन पदाधिकारी मो. इम्तेयाज फारूकी ने अदालत में अभियोजन का पक्ष रखा। अभियोजन कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार मामला नवादा नगर थाना कांड संख्या-292/09 से जुड़ा है। घटना 13 अगस्त 2009 की सुबह की बताई गई है।

कादिरगंज ओपी क्षेत्र के चिलिया बिगहा निवासी उमेश यादव घटना के समय शौच के लिये जा रहे थे। तभी उन्होंने  देखा कि उसके खेत में लगे दुलदुुलिया के पौधा को हसनपुर निवासी भोनू यादव, राजो यादव, मथुरा यादव, अनिक यादव, लाटो यादव व सुनील यादव के द्वारा काटा जा रहा था। उमेश के द्वारा पूछे जाने पर सभी लोगआक्रोशित हो गये और भोनू यादव ने उमेश यादव पर फायरिंग कर दी, इसमें वह जख्मी हो गया। 

घटना को लेकर जख्मी उमेश यादव के बयान पर थाना में कांड दर्ज किया गया था। इसमें भोनू यादव, राजो यादव, मथुरा यादव, अनिक यादव, लाटो यादव व सुनील यादव को अभियुक्त बनाया गया। अदालत में गवाहों के द्वारा दिये गये बयान के आधार पर न्यायाधीश ने भोनू यादव को भादवि की धारा 307 के तहत 10 वर्ष का सश्रम कारावास तथा पांच हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। इसके अलावे 27 आर्म्स एक्त के तहत 5 वर्ष का कारावास व दो हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। वहीं आरोपी राजो यादव की मृत्यू ट्रयाल के दौरान हो गई थी, जबकि अभियुक्त बने मथुरा यादव, अनिक यादव, लाटो यादव व सुनील यादव को संदेह का लाभ देते हुए रिहा कर दिया गया।

Find Us on Facebook

Trending News