मृत पशु को फेंकने से मना किया, तो महादलितों का किया हुक्का पानी बंद, गांव में तनाव

मृत पशु को फेंकने से मना किया, तो महादलितों का किया हुक्का पानी बंद, गांव में तनाव

SHEIKHPURA : मृत पशुओं को फेंकने का काम महादलित परिवार अब नहीं करना चाहते हैं, लेकिन समाज का कुछ वर्ग उन्हें ऐसा करने पर आज भी मजबूर करता है। एक ऐसा ही मामला शेखपुरा जिले के चेवड़ा थाना के एकाढ़ा गांव से सामने आई है। 


THE-DEAD-ANIMALS-WERE-NOT-ALLOWED-TO-THROW-THEN-THE-WATER-OF-THE2.jpg


घटना के संबंध में बताया गया है कि बीते 31 मई को बिजली का झटका लगने से नवल मंडल नाम के व्यक्ति की भैंस मर गई थी। इसके बाद भैंस के शव को फेंकने को लेकर विवाद हो गया। नवल मंडल और गांव के लोगों ने महादलितों पर शव फेंकने का प्रेशर बनाया। नहीं मानने पर दबंगों ने दलितों का हुक्का पानी बंद कर दिया। उनके गांव से निकलने और शौच के लिए खेतों में जाने पर रोक लगा दिया है। दबंगों ने रविदास टोला के सामुदायिक भवन में ताला जड़ दिया और टोला में लगे सभी चापाकल को तोड़ दिया। 


THE-DEAD-ANIMALS-WERE-NOT-ALLOWED-TO-THROW-THEN-THE-WATER-OF-THE1.jpg


बरसात के दिनों के लिए जमाकर रखे हुए जलावन को जला दिया। इतना ही नहीं रविदास टोला के के बाहर मवेशी का शव फेंक दिया। इसके बाद से स्थिति तनावपूर्ण बन गई है। आक्रोशित महादलित परिवारों ने शुक्रवार को चेवाड़ा थाना का घेराव कर विरोध जताया है। पुलिस गांव पहुंचकर पुलिस मामले समाधान कराने में जुटी है।

Find Us on Facebook

Trending News