मदद के लिए आईजी ऑफिस पहुंचे दिव्यांग शिक्षक का टूटा सब्र, खुद पर पेट्रोल डालकर की आत्मदाह की कोशिश, सामने आया यह बड़ा कारण

मदद के लिए आईजी ऑफिस पहुंचे दिव्यांग शिक्षक का टूटा सब्र, खुद पर पेट्रोल डालकर की आत्मदाह की कोशिश, सामने आया यह बड़ा कारण

MUZAFFARPUR : मुजफ्फरपुर के आईजी कार्यालय में अचानक एक शख्स ने खुद पर पेट्रोल  छिड़ककर आग लगाने की कोशिश की है।। मौके पर पुलिसकर्मी ने  बीचबचाव किया, जिससे कार्यालय में बड़ी घटना होने से रह गई। बताया गया कि शिक्षक पुलिस पर बदसलूकी की शिकायत को लेकर के आईजी कार्यालय पहुंचा था। लेकिन यहां मदद नहीं मिलने पर खुद को आग में झौंकने की कोशिश की। 

मुजफ्फरपुर के आईजी पुलिस के कार्यालय में उस वक्त अफरातफरी का माहौल कायम हो गया जब एक व्हील चेयर पर एक व्यक्ति आत्मदाह करने पहुंच गया । उसने अपने शरीर पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगाने की धमकी दी बीते चार दिनों से पुलिस हिरासत में नाबालिग बेटे को रखे जाने के विरोध में आईजी कार्यालय पर आत्मदाह  दिव्यांग पिता करने पहुंचा ने  सदर थानाध्यक्ष सत्येंद्र मिश्रा पर  अभद्रता का आरोप लगाया।

थानाध्यक्ष ने दी है धमकी

जिला के कुढ़नी प्रखंड के माधोपुर का रहनेवाला रविंद्र यादव का आरोप था की सदर थाना की पुलिस उसके नाबालिग बेटे को बाइक लूट में पकड़ कर थाना ले आई । पिछले चार दिनों से उसके नाबालिग बेटे को थाना पर रखा गया है। जबकि कानून के अनुसार उसको चौबीस घंटे के ही अंदर में अदालत के सामने प्रस्तुत करना चाहिए था और रविंद्र यादव ने बताया कि जब वह सदर थानाध्यक्ष से मिलकर अपने बेटे के नाबालिग होने का कागज सौंपने गया तो अब थानाध्यक्ष ने उसे पटक कर मारने की धमकी दी है।

दस मिनट में की दो बाइक चोरी, आदतन अपराधी है बेटा

पूरे मामले पर जब सदर थानाध्यक्ष सत्येंद्र मिश्रा से सवाल पूछा गया तो सत्येंद्र मिश्रा ने बताया कि आरोपी एक आदतन अपराधी है , उस पर सात से आठ मामले दर्ज हैं  और वह नाबालिग है या नहीं यह तो जांच का विषय है पर अब अभी जिस केस में उसको गिरफ्तार कर कोर्ट भेजा गया है, उसमें उस पर एक ही दिन दस मिनट के अंदर दो बाइक को लूटने का मामला है। जिसके बाद पुलिस ने यह करवाई की है और सारे सब सबूत और साक्ष्य आरोपी के खिलाफ में हैं। जिसके बाद पुलिस गिरोह के अन्य लोगों की जानकारी जुटा रही है।



Find Us on Facebook

Trending News