महिला कर्मी से अमर्यादित व्यवहार करना जिला योजना पदाधिकारी को पड़ा महंगा, डीएम ने किया निलंबित

महिला कर्मी से अमर्यादित व्यवहार करना जिला योजना पदाधिकारी को पड़ा महंगा, डीएम ने किया निलंबित

MOTIHARI : महिला कर्मी से अमर्यादित व्यवहार करना मोतिहारी जिला योजना पदाधिकारी को महंगा पड़ गया ।महिला कर्मी की शिकायत के बाद मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने जांच कमिटी बनाकर जांच कराया ।जांच में महिला कर्मी का आरोप सत्य पाए जाने पर डीएम ने करवाई के लिए सरकार को भेजा था पत्र ।डीएम के पत्र पर बिहार सरकार के योजना व विकास विभाग के संयुक्त सचिव ने जिला योजना पदाधिकारी स्वामीनाथ मांझी को निलंबित कर दिया।निलंबन अवधि में इनका मुख्यालय योजना विभाग पूर्णिया बनाया गया है।

जिला निबंधन व परामर्श केंद्र (डीआरसीसी) की एक महिला कर्मी ने  मोतिहारी जिला योजना पदाधिकारी पर अमर्यादित ,अभद्र व महिला के खिलाफ भाषा का प्रयोग का आरोप लगाकर डीएम से शिकायत किया था।डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने शिकायत पर त्वरित संज्ञान लेते हुए जिला आपदा प्रभारी अनिल कुमार ,वरीय उप समाहर्ता पूजा कुमारी के नेतृत्व में सात सदस्यीय जांच टीम का गठन किया गया ।जांच टीम ने महिला कर्मी के आरोपो की जांच किया गया ।जांच में टीम ने महिला कर्मी के आरोपो को सत्य पाते हुए डीएम को जांच सौंप दी थी ।


मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने महिला कर्मी के मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच टीम की  रिपोर्ट मिलने पर जिला योजना पदाधिकारी पर करवाई के लिए बिहार सरकार के योजना व विकास विभाग पटना को अनुसंशा पत्र भेजा था। डीएम के अनुसंशा पत्र पर योजना व विकास विभाग के संयुक्त सचिव ने त्वरित करवाई करते हुए जिला योजना पदाधिकारी माझी को निलंबित कर दिया। वहीं निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय पूर्णिया जिला योजना कार्यालय कर दिया गया। सरकारी नियम के अनुसार निलंबन अवधि में जीवन निर्वाहन भाता देने का भी आदेश दिया गया है। उक्त करवाई को लेकर डीआरसीसी सहित पूरे कलेक्ट्रीयट में हड़कंप मचा हुआ है ।

Find Us on Facebook

Trending News