पूर्व MLA के 2 भाईयों की हत्या में सिर्फ 1 गिरफ्तारी: पांडव सरगना को 'दुश्मन' ने दिया चैलेंज- संजय सिंह है मेरे निशाने पर, दोहरे हत्याकांड में मेरा नाम उछालना गलत

पूर्व MLA के 2 भाईयों की हत्या में सिर्फ 1 गिरफ्तारी: पांडव सरगना को 'दुश्मन' ने दिया चैलेंज- संजय सिंह है मेरे निशाने पर, दोहरे हत्याकांड में मेरा नाम उछालना गलत

PATNA:  अरवल के पूर्व विधायक चितरंजन शर्मा के दो भाईयों की हत्या में पुलिस के हाथ करीब-करीब खाली हैं। पुलिस अब तक केवल एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर सकी है। एक को अरेस्ट कर पुलिस ने केस के खुलासे का दावा किया है। वहीं हत्याकांड में शामिल मुख्य अभियुक्त व शूटरों को पुलिस गिरफ्तार करने में अब तक विफल है। राजधानी पटना में पूर्व विधायक भाईयों की हत्या से पुलिस की पूरी पोल खुल गई है। घटना के बाद से राजधानी वासियों में भय का माहौल है। इधर, डबल मर्डर केस के मुख्य आरोपी कुख्यात संजय सिंह को लेकर धुर विरोधी गुट के सरगना का एक ऑडियो वायरल हो रहा है। ऑडियो में शख्स कह रहा कि मेरे निशाने पर पांडव सरगना संजय सिंह है।  

पांडव सेना सरगना संजय सिंह मेरा नंबर-1 दुश्मन

पूर्व विधायक के भाईयों की हत्याकांड में कुख्यात संजय सिंह सिंह समेत 6 नामजद व 2 अज्ञात के खिलाफ पटना के पत्रकारनगर थाने में केस दर्ज किया गया है। इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी बबलू सिंह को गिरफ्तार किया है। पटना पुलिस मुख्य आरोपी व शूटरों की गिरफ्तारी में अब तक विफल रही है। अब एक ऑडियो सामने आया है। नौबतपुर के एक अपराधी मनोज सिंह का ऑडियो वायरल है। वायरल ऑडियो में शख्स कहते सुनाई पड़ रहा कि पिछले 2 दिनों से मीडिया में मेरा और मेरे बेटे माणिक का नाम  पटना के डबल मर्डर केस में घसीटा जा रहा है। यह बिल्कुल ही गलत है, मेरा उस घटना से कोई मतलब नहीं है। रह गई बात पांडव सरगना संजय सिंह की तो उससे 2014 से ही अदावत चल रही है। यह अदावत आगे भी चलेगी। 2014 में नौबतपुर के अहुआरा गांव में संजय सिंह ने 8 गुर्गों के साथ हमला बोल दिया था। संजय का मंसूबा कामयाब नहीं हो सका। मेरे निशाने पर संजय सिंह है,पहले भी था आज भी है। मेरा उसके साथ 36 का संबंध है। वर्ष 2020 में संजय सिंह पर मेरे लड़कों ने ही हमला बोला था। 

मीडिया गलत रिपोर्ट प्रकाशित न करे

वायरल ऑडियो में कुख्यात मनोज सिंह ने कहा है कि पत्रकारनगर दोहरे हत्या केस में पुलिस को गलत दिशा में भरमाया जा रहा है। पुलिस-प्रशासन के लोगों से आग्रह है कि वे सही जांच करें। मीडिया से भी मेरा अनुरोध है कि सही रिपोर्ट प्रकाशित करें। गलत रिपोर्ट से आम जनता दिगभ्रमित होती है। हालांकि इस ऑडियो की सत्यता की पुष्टि न्यूज4नेशन नहीं करता है। 

बता दें, भाजपा के पूर्व विधायक चितरंजन शर्मा के दो भाईयों शंभू सिंह और गौतम को 31 मई की शाम पत्रकार नगर थाना क्षेत्र के काली मंदिर रोड में गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। पटना पुलिस ने 2 दिन बाद एक शख्स को गिरफ्तार किया है। इसके बाद पुलिस की कार्रवाई धीमी हो गई है। इसके पहले अप्रैल महीने में भी पूर्व विधायक के चाचा और भतीजा की एक ही दिन गोली मार हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड में भी सरगना संजय सिंह व अन्य पर केस दर्ज हुआ था। बताया जाता है कि पिछले एक महीने में नीमा गांव में पांच लोगों की हत्या हो चुकी है। 

Find Us on Facebook

Trending News