दिवंगत राज्यपाल का परिवार है दहेज का लोभी, बहू ने लगाए संगीन आरोप, कहा- पति सहित ससुराल में सभी लोग करते हैं प्रताड़ित

दिवंगत राज्यपाल का परिवार है दहेज का लोभी, बहू ने लगाए संगीन आरोप, कहा- पति सहित ससुराल में सभी लोग करते हैं प्रताड़ित

LUCKNOW : यूपी की राजधानी लखनऊ से एक ऐसी खबर सामने आई है, जिस पर विश्वास करना मुश्किल हो जाएगा। यहां एक बड़े राजनीतिक परिवार की बहू ने ससुरालवालों पर दहेज के लिए प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। यह परिवार भी कोई साधारण नहीं है। इनका अपना रसुख रहा है। बात लखनऊ से लंबे समय तक सांसद रहे और मध्य प्रदेश के पूर्व राज्यपाल लालजी टंडन के परिवार से जुड़ा है। जिनकी पौत्र वधू दिशा टंडन ने दहेज उत्पीड़न को लेकर यूपी के सीएम योगी और पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर न्याय की गुहार लगाई है।  दिशा योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन के भाई की पुत्र वधू हैं।

पुलिस नहीं कर रही है सहायता

दिशा का दावा है कि उन्हें दहेज के लिए प्रताड़ित किया जा रहा है। मगर, पुलिस उनकी एफआईआर तक दर्ज नहीं कर रही है, क्योंकि आशुतोष टंडन के राजनीतिक रसूख के आगे दिशा की बिसात ही क्या है? बता दें कि दिशा की शादी 11 दिसंबर 2019 को अमित टंडन के बेटे आयुष टंडन के साथ हुई थी। अमित टंडन, कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन के भाई हैं। 

मजबूरी में लिया सोशल मीडिया का सहारा

पुलिस द्वारा कोई सहायता नहीं मिलने के कारण मजबूरी में दिशा ने सोशल मीडिया का सहारा लिया है और अपने साथ हो रही प्रताड़ना को लेकर एक वीडियो पोस्ट किया है। जिसमें उन्होंन कहा है कि, 'मैं दिशा टंडन पौत्र वधू लालजी टंडन को आशुतोष टंडन के परिवार द्वारा दहेज के लिए प्रताणित किया जा रहा है। इसकी शिकायत मैंने कई जगहों पर कराने की कोशिश की लेकिन उनके पद पर रहते हुए मेरी कोई सुनवाई नहीं हुई। मैं मोदी जी और योगी जी से विनम्र निवेदन करती हूं कि मुझे न्याय मिले और इनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई हो'। साथ ही उन्होंने पीएमओ इंडिया, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और लखनऊ पुलिस को टैग करते हुए अपनी पीड़ा बयां की है।

सामने नहीं आती बड़े परिवार के दहेज उत्पीड़न की कहानी

दिशा की बड़े परिवार में दहेज उत्पीड़न की बात पर कहा कि जितना बड़ा परिवार होता है, उनकी डिमांड भी उतनी बड़ी होती है। मैं मध्यमवर्गी किसान की बेटी हूं और बहुत ही सामान्य परिवार से आती हूं। मुझे कहा जाता था कि हमारे घर में जो भी बहुएं आती हैं, वो ये-ये दहेज लेकर आती हैं। 

लाल जी टंडन की तारीफ की

उन्होंने आगे कहा कि बाबू जी सरल स्वभाव के और दयालू प्रवृत्ति के राजनेता थे। उनकी तरफ से ये सारी बातें नहीं थी। वह मध्यप्रदेश के राज्यपाल थे और ज्यादातर समय भोपाल में ही रहते थे। ये बातें मुख्यरूप से आशुतोष टंडन और उनकी फैमिली की थीं क्योंकि वो उनका परिवार और उनकी सब बेटियां ये डिमांड करता था। इसमें समय-समय पर इन सब चीजों की डिमांड कि सब बहुएं ये-ये चीजें लाती हैं और तुम नहीं लाई हो, तो समाज में हमें नीचा देखना पड़ता है। उन्होंने आगे बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि ये धमकियां भी देते थे और इसकी रिकॉर्डिंग्स भी हमारे पास हैं। ये अपनी बीबी को भी बोलते थे मारने के लिए।

कौन हैं आशुतोष टंडन

बता दें कि दिशा टंडन ने अपने वीडियो में जिस आशुतोष टंडन का जिक्र किया है, वह लालजी टंडन के बेटे हैं। अभी भाजपा के टिकट पर लखनऊ पूर्व विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं। वर्तमान में वे भाजपा नेतृत्व वाली सरकार में नगर विकास, नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन मंत्री हैं। इसके पहले वह तकनीकी और चिकित्सा शिक्षा मंत्री भी थे। लालजी टंडन का निधन 2020 में हो गया था।

Find Us on Facebook

Trending News