फिल्म 'परदेस' 23 अगस्त को बिहार समेत देश भर के सिनेमाघरों में दस्तक देने जा रही है

 फिल्म 'परदेस' 23 अगस्त को बिहार समेत देश भर के सिनेमाघरों में दस्तक देने जा रही है

अभी के दौर में भोजपुरी सिनेमा का नाम सुनते ही लोगो के मन मस्तिक में ये बात सब से पहले आती है की फिल्म अश्लील और गन्दी होगी और कुछ हद तक होती भी ऐसी ही है,ऐसी फिल्मों को हम चाह कर भी घर में परिवार के साथ नहीं देख सकते।भोजपुरी फिल्मों के दिनों दिन गिरते अस्तर को देखते हुए इसमें सुधार की जरुरत है ,ताकि भोजपुरी फिल्म अश्लील छबि  के दायरे से बहार निकल सके।   

भोजपुरी सिनेमा पर जहां अश्लीलता का ठप्पा पूरी तरह लग चुका है ऐसे दौर में साफ-सुथरे नए विषय वस्तु को लेकर फिल्म बनाना किसी रोमांच से कम नहीं। गोपालगंज के रहने वाले शाहिद शम्स  भोजपुरी के पहले ऐसे निर्माता और अभिनेता हैं जिन्होंने भोजपुरी में कई यादगार फिल्मों का निर्माण किया है व अभिनय भी किया है. परदेस उनका ड्रीम प्रोजेक्ट है इसकी शूटिंग मुंबई दिल्ली और सिवान गोपालगंज में की गई है। 

कहानी की बात करें तो परदेश देश में रोजगार नहीं मिलने पर विदेश जाने वाले युवाओं की कहानी है।खासकर बिहार के छपरा सीवान गोपालगंज जिले से सबसे ज्यादा पलायन विदेश में होता है रोजी रोजगार की तलाश में लोग घर परिवार को छोड़ वर्षों के लिए  लिए विदेश चले जाते हैं उसके बाद शुरू होता है उनके परिवार का द्वंद घर में जवान पत्नी  बहन छोटे बच्चे बुजुर्ग माता-पिता पर क्या गुजरती है कैसे अनमेल रिश्ते बन जाते हैं घर की मर्यादा रखते हुए त्याग व सबको काफी संजीदगी के साथ रुपहले पर्दे पर शाहिद शम्स  ने उकेरा है। 

फिल्म के गीत संगीत का जिम्मा भोजपुरी के चर्चित गीतकार विनय बिहारी ने उठाया है। उनकें गीत काफी कर्णप्रिय  है। अभिनय की बात करें तो नायक की भूमिका में हैं शाहिद शम्स  जबकि नायिका की भूमिका में है भोजपुरी में संभावनाओं से भरपूर अभिनेत्री रूपा सिंह फिल्म में गुंजन कपूर आनंद मोहन पांडे समेत भोजपुरी के कई बड़े दिग्गज कलाकार भी नजर आने वाले है तो अगर आप साफ-सुथरी पारिवारिक मनोरंजक फिल्म देखने के शौकीन है तो भोजपुरी में आपकी यह लालसा परदेश को देखकर पूरी की जा सकती है इस फिल्म को बिहार में टैक्स फ्री करने की मांग को लेकर भी कलाकारों का एक जत्था जल्द ही बिहार के मुख्यमंत्री से भी मिलने वाला है

Find Us on Facebook

Trending News