लड़की को बंधक बनाकर दो महीने तक गैंगरेप, नशे में बदवहास पुलिस को मिली पीड़िता

लड़की को बंधक बनाकर दो महीने तक गैंगरेप, नशे में बदवहास पुलिस को मिली पीड़िता

Desk : एक लड़की को बंधक बनाकर दो महीने तक सामूहिक दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस दौरान लड़की को लगातार नशीली दवा दी गई। हालांकि पीड़िता ने दो बार दरिंदों के चंगुल से भागन की कोशिश की लेकिन असफल रही। तीसरी बार वह नशे के हालत में ही वहां से भाग निकली और पुलिस के पास पहुंच गई। मामला उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर के चुनार क्षेत्र की है। 

मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को नशे के हालत एक बदहवास लड़की भागती-भागती रामनगर में चौराहे पर खड़ी पुलिस के पास पहुंची। किशोरी दो महीने पहले चुनार से गायब हुई थी और परिवार वालों ने चुनार में गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी।

बताया जा रहा है कि दो महीने पहले चुनार से गायब इस लड़की को नशीली दवा देकर वेश्यावृत्ति कराई गई। करीब दो महीने तक उसके साथ दर्जनों लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। किशोरी ने इस दौरान दो बार भागने की कोशिश की, लेकिन असफल रही। पहली बार नशे की हालत में ही वह भाग कर सड़क पर आ गई लेकिन बंधक बनाने वालों ने बीमार बताकर दोबारा कैद कर दिया। 

फिलहाल इस मामले में एक ब्यूटी पार्लर संचालिका समेत तीन महिलाओं और 10 पुरुषों के नाम सामने आए हैं। रामनगर और चुनार पुलिस किशोरी का बयान दर्जकर मामले की छानबीन में जुटी है।

चुनार पुलिस के अनुसार जून में एक महिला पीड़ित लड़की को बहकाकर रामनगर ले आई। 15 जून को उसके परिजनों ने चुनार थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। तलाश जारी रही, लेकिन किशोरी का पता नहीं चल सका। जो महिला लड़की को लेकर आई थी, उसने रामनगर स्थित एक ब्यूटी पार्लर संचालिका से किशोरी की मुलाकात कराई और काम दिलाने का बहाना किया।

इसके बाद लड़की को गोलाघाट क्षेत्र में किराए के मकान में रखा गया। लड़की से कुछ दिन तक ब्यूटी पार्लर में काम कराया गया। इसी बीच लड़की की मुलाकात एक युवक से करा दी गई। युवक उसे बहकाकर रेप करने लगा। किशोरी ने पुलिस को बताया कि उसे नशे की दवाएं देकर लगभग एक माह तक दर्जनों लोगों ने दुराचार किया।

बीते 16 अगस्त की रात पीड़िता किसी तरह कमरे का दरवाजा तोड़कर रामनगर चौक पर पहुंची। वहां उपनिरीक्षक अभिनव श्रीवास्तव को आपबीती सुनाई। पुलिस ने चुनार में पता किया तो वहां उसकी गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज था। लड़की का बयान लेकर उसे चुनार पुलिस को सौंप दिया गया। चुनार पुलिस ने परिजनों को लड़की को सौंप दिया।

पुलिस के मुताबिक किशोरी ने मजिस्ट्रेट के सामने कलमबंद बयान में रामनगर के एक दर्जन लोगों के नाम दर्ज बताए हैं। जिनमें नगर के जमीन कारोबारी, व्यापारी व नेता शामिल हैं। किशोरी ने ब्यूटी पार्लर संचालिका समेत तीन महिलाओं के नाम भी दर्ज कराए हैं। चुनार पुलिस ने किशोरी का मेडिकल परीक्षण भी करा लिया है। शनिवार को चुनार पुलिस गोलाघाट पहुंची थी। जितने लोगों का नाम सामने आए हैं, सभी फरार है। उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। 

Find Us on Facebook

Trending News