शादी में हेलीकॉप्टर से आना दूल्हे को पड़ गया भारी, वीडियो सामने आते ही पहुंच गए हवालात, जानिए क्या है पूरा मामला

शादी में हेलीकॉप्टर से आना दूल्हे को पड़ गया भारी, वीडियो सामने आते ही पहुंच गए हवालात, जानिए क्या है पूरा मामला

DESK : दूल्हे मियां को हेलीकॉप्टर से  अपनी दुल्हन की विदाई कराना मंहगा। बताया गया कि घर से ससुराल तक के लिए दूल्हे ने हेलीकॉप्टर बुक किया किया। लेकिन, अब इस शाही शादी का काला सच भी सामने आ गया है। शादी की वीडियो सामने आने के बाद दूल्हे को अब जेल की सैर करनी पड़ गई है। 

मामला राजस्थान से जुड़ा हुआ है। यहां आबू रोड के रहने वाले सुरेंद्र कुमार राठौड़ ने कुछ दिन पहले आलीशान अंदाज में अपनी शादी रचाई थी। इस शादी में 20 लाख रुपए में किराए पर हेलीकॉप्टर लिया था। इसी हेलीकॉप्टर पर सवार होकर वह गुजरात के डिसा गांव अपनी दुल्हन को विदा कराने पहुंचा था। इस शादी की वीडियो भी सामने आया था। लेकिन यही वीडियो अब युवक के लिए  भारी पड़ गया। वीडियो सामने आते ही बांसवाड़ा के एसपी एक्शन में आ गए। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। 

ठगी की आधी राशि उसने अपने पिता रमेश कुमार काे देना बताई। पकड़े जाने के भय से उसके पिता भी घर से फरार हाे गए। पुलिस उनकी तलाश में जुटी है। साथ ही आबू राेड क्षेत्र में स्थित उनकी संपत्ति व बैंक में जमा राशि का ब्याेरा एकत्रित कर रही है। रिमांड अवधि पूरी हाेने पर पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया।

दो बड़ी ठगी की घटनाओं को दिया था अंजाम

असल में वीडियो सामने आते ही युवक की हिस्ट्री भी सामने आ गई। अरथूना निवासी जयंत उर्फ गोविंद पुत्र कांतिलाल पांचाल ने 19 फरवरी 2020 काे अरथूना थाने में एक रिपोर्ट पेश की। जिसमें बताया कि गांव में ही रहने वाले उसके मित्र दिलीप सवाेत के भांजे आनंदपुरी निवासी सुनय शाह से उसका परिचय था। सुनय ने उदयपुर में अपने साथ पढ़ने वाले सुरेंद्र राठाैड़ के साथ पटाया, थाइलेंड में रेस्टोरेंट खाेला। वर्ष 2017 में दिलीप, सुनय आरोपी सुरेंद्र के साथ उसके अरथूना स्थित निवास पर पहुंचे। उन्होंने जयंत काे बताया कि थाइलैंड में यस ब्यूटिक हाेटल कम दाम पर बिक रहा है। यदि वह इसमें इंवेस्ट करता है ताे उसे दस लाख रुपए प्रतिमाह मुनाफा हाेगा। यदि वह थाइलैंड में रहकर हाेटल नहीं चलाना चाहे ताे वे उसका हाेटल चला लेंगे व उसे घर बैठे प्रतिमाह छह लाख रुपए दे देंगे।  पैसा प्राप्त हाेने के बाद जब आरोपी सुरेंद्र ने अपने ईमेल एकाउंट से उसे एग्रीमेंट की काॅपी भेजी। यह एग्रीमेंट जयंत के बजाय सुरेंद्र के नाम से ही था, जिसमें राशि भी बढ़कर 72 लाख रुपए हाे गई। बकाया राशि एक माह में अदा करने की शर्त जुड़ी हुई थी। इस संबंध में जब आरोपी सुरेंद्र काे फाेन किया ताे उसने झांसे में लेते हुए बताया कि जयंत के नाम का वर्क परमिट नहीं हाेने से उसने अपने नाम से एग्रीमेंट बनवाया है। बाद में पता चला कि यह एग्रीमेंट पूरी तरह से फर्जी था। इस घटना के बाद पिछले साल जयंत की कोरोना से मौत हो गई।

वहीं उसने एक अन्य शख्स से भी करीब 42 लाख रुपए की ठगी की थी। दोनों मामलों में पुलिस सुरेंद्र की तलाश कर रही थी, लेकिन उसका पता नहीं चल रहा था। लेकिन वीडियो सामने आने के बाद उसकी जानकारी मिल गई।

थाइलैंड जाने की थी योजना

ठगी से पैसों को अपनी शादी में खर्च करनेवाले सुरेंद्र की योजना पत्नी के साथ थाइलैंड में हनीमून पर जाने की थी, दो दिन बाद दोनों को रवाना होना था। लेकिन उससे पहले ही पुलिस उसके ठिकाने पर पहुंच गई और उसे गिरफ्तार कर लिया। अब सुरेंद्र थाईलैंड की जगह हवालात की सैर कर रहा है। 



Find Us on Facebook

Trending News