गंगा का कहर अब शिक्षा पर भी दिखने लगा, तिलकामांझी विश्वविद्यालय, इंजीनियरिंग कॉलेज व ट्रिपल आईटी में घुसा बाढ़ के पानी

गंगा का कहर अब शिक्षा पर भी दिखने लगा, तिलकामांझी विश्वविद्यालय, इंजीनियरिंग कॉलेज व ट्रिपल आईटी में घुसा बाढ़ के पानी

BHAGALPUR : भागलपुर में गंगा के कहर से अब शिक्षा पर भी  खासा असर दिखने लगा है। दरअसल गंगा के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी होने से जिले के तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय , इंजीनियरिंग कॉलेज व  ट्रिपल आईटी में पानी पूरी तरह से प्रवेश कर गया है। जिसके चलते कई कक्षाएं बंद हो गए हैं। वहीं बाढ़ के डर से छात्र धीरे-धीरे यहां से पलायन करते नज़र आ रहे हैं। दूसरी तरफ  भागलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज व ट्रिपल आईटी भागलपुर परिसर में बाढ़ का पानी घुस जाने के कारण ऑफलाइन की बजाय ऑनलाइन कक्षाएं चलने की बात कही गई।

बीसीई के हॉस्टल नंबर 3 में भी बाढ़ का पानी घुस गया है वहीं अन्य हॉस्टल के चारों ओर पानी घिर जाने से अफरा-तफरी का माहौल हो गया है, सभी हॉस्टल को खाली करने का आदेश जारी किया गया है । धीरे-धीरे गंगा का पानी कार्यालयों में भी प्रवेश कर जाएगा।  इससे पहले  शहर के सिटी कॉलेज, पीएनए साइंस कॉलेज व पीजी गर्ल्स हॉस्टल मे पानी प्रवेश करने से  छात्रों की पढ़ाई बाधित हुई है। छात्र-छात्राओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

पिछले साल बाढ़ में बह गए थे महत्वपूर्ण दस्तावेज

तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति प्रोफेसर रमेश कुमार ने बताया कि हर वर्ष यहां पानी आ जाता है। 2021 में ग्राउंड फ्लोर में भी पानी था कागजात गल गए थे जिसके बाद कार्यालय को मारवाड़ी कॉलेज में शिफ्ट किया गया था। पानी कैंपस में आ चुका है छात्र छात्राओं को परेशानी हो रही है। पानी और अगर बढ़ता है तो पिछली बार जो व्यवस्था की गई थी वही की जाएगी। वही ट्रिपल आईटी के निदेशक प्रोफेसर  अरविंद चौबे ने बताया कि हॉस्टलों में पानी प्रवेश नहीं किया है लेकिन इसी तरह जलस्तर बढ़ता रहा तो पानी हॉस्टल  में भी घुस आएंगे तत्काल अभी ज्यादा परेशानी नहीं है।


Find Us on Facebook

Trending News