एक महीने के अन्दर चरमरा गयी झारखण्ड की विधि व्यवस्था, बोले पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास

एक महीने के अन्दर चरमरा गयी झारखण्ड की विधि व्यवस्था, बोले पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास

RANCHI : आज भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रदेश पदाधिकारियों, सांसदों एवम ज़िला अध्यक्षों की बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय महामंत्री एवं सांसद अरुण सिंह ने कहा कि भाजपा में ही आंतरिक लोकतंत्र है. यहाँ बूथ से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक के निर्णय सामूहिकता से होते हैं. प्रदेश  में विधानसभा चुनाव के कारण स्थगित संगठन के पुनर्गठन की प्रक्रिया अब शीघ्र पूरी होगी. उन्होंने कहा की जे पी नड्डा के  राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में निर्विरोध निर्वाचन के पूर्व 21 राज्यों के प्रदेश अध्यक्षों के चुनाव की प्रक्रिया सम्पन्न  हो चुकी है. झारखण्ड में भी बूथ समिति के पुनरीक्षण से लेकर मंडल एवं ज़िला के अध्यक्षों के मनोनयन की प्रकिया 25जनवरी से प्रारंभ होगी.  

उन्होंने कहा कि पार्टी के लिये संगठन सर्वोपरी है. मज़बूत संगठन से हारी बाज़ी फिर जीती जा सकती है. सिंह ने कहा की हम सत्ता नही विचारधारा के साथ चलने वाले लोग हैं, अंत्योदय के लक्ष्य के साथ माँ भारती की सेवा ही हम सब का संकल्प है. भाजपा इसी बल पर आज विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बनी है. 

झारखंड की हेमंत सरकार पर उन्होंने कहा कि गठन के साथ ही राज्य की जनता का भरोसा इस सरकार से उठने लगा है. हमे जन मुद्दों पर अब तेज़ी से संघर्ष करना है. संघर्ष से जनता भी वास्तविकता से परिचित   होती है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी अपनी विफलताओं से हताश होकर देश को दिग्भ्रमित कर रही है. 

बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि भाजपा सरकार ने 5 वर्षों में प्रशासन को चुस्त दुरुस्त करते हुए उग्रवाद पर नकेल कसा. लेकिन आज 1 महीने के अंदर ही विधि व्यवस्था चरमरा गई. उग्रवादी गतिविधियां फिर तेज़ी से शुरू हो गई. प्रशासन के समक्ष सीएए के समर्थन जुलूस पर पथराव हो रहे है और सरकार मौन है. उन्होंने कहा कि सरकार की विफलताओं को जन जन तक पहुचाने की आवश्यकता है. हम राज्य हित और जन हित के मुद्दों पर चुप नही बैठेंगे. 

उधर प्रदेश संगठन महामंत्री धर्मपाल   सिंह ने आगामी  संगठनात्मक कार्यक्रमो की जानकारी देते हुए कहा कि आगामी 25 जनवरी से 10 फरवरी तक प्रदेश भर में बूथ समिति का पुनरीक्षण एवम सत्यापन होगा. 11फरवरी से 21 फरवरी तक मंडल अध्यक्ष की नियुक्ति हेतु चयन प्रक्रिया सम्पन्न होगी. इसके अतिरिक्त पूरे प्रदेश में सीएए के समर्थन में जनसंपर्क और बैठकें हो रही हैं. मिस्ड कॉल, पोस्ट कार्ड और ईमेल के माध्यम से प्रधानमंत्री को बधाई  भेजे जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि चाईबासा में आदिवासियों के सामूहिक नरसंहार के खिलाफ झारखंड एससी, एसटी मोर्चा ने महामहिम राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर कड़ी कार्रवाई की मांग की है. सभी जिलों में भी ज़िलाध्यसक्षों के द्वारा इस संबंध में उपायुक्त के माध्यम से कल और आज राज्यपाल के नाम ज्ञापन दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि लोहरदगा में घटी घटना पर पार्टी पैनी नज़र रखी हुई है. पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल शीघ्र लोहरदगा का भी दौरा करेगा. सिंह ने कहा कि चाईबासा में हुए आदिवासियों के सामूहिक नरसंहार के खिलाफ पार्टी के कार्यक्रता कल 10 बजे से 2 बजे तक राजभवन के समीप मौन धरना कार्यक्रम करेंगे. 

आज की बैठक में प्रदेश महामंत्री अनंत ओझा उपाध्यक्ष सत्येंद्र तिवारी, प्रिया सिंह, मंत्री मनोज सिंह, सुबोध गुड्डू, नूतन तिवारी, सरिता श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष सांसद महेश पोद्दार, प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव, दीनदयाल वर्णवाल, जेबी तुबिद कार्यालय मंत्री हेमंत दास ,मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक, सह प्रभारी संजय जैसवाल, तारिक इमरान मोर्चा अध्यक्ष ज्योतिरीश्वर सिंह, नीरज पासवान अमित सिंह, सोना खान आरती सिंह, सांसद पीएन सिंह, बीडी राम, अन्नपूर्णा देवी, सुदर्शन भगत, सुनील सोरेन, जिलाध्यक्ष मनोज मिश्रा सहित सभी जिलों के अध्यक्ष शामिल थे. 

रांची से कुंदन की रिपोर्ट


Find Us on Facebook

Trending News