इस तारीख से पूरी तरह से बंद हो जाएगा पीएमसीएच का मेन गेट, प्रिसिंपल के घर पर चलेगा बुलडोजर

इस तारीख से पूरी तरह से बंद हो जाएगा पीएमसीएच का मेन गेट, प्रिसिंपल के घर पर चलेगा बुलडोजर

PATNA : बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल का दर्जा रखनेवाले पटना के पीएमसीएच के मेट गेट को आगामी 22 जुलाई से पूरी तरह बंद किया जा रहा है। इसके लिए अस्पताल प्रबंधन ने आदेश जारी कर दिया गया है। पीएमसीएच का मेन गेट बंद करने के साथ यहां पास में बने प्रिसिंपल डा. विद्यापति चौधरी व एक अन्य डॉक्टर के क्वार्टर और कैंसर वार्ड को भी तोड़ा जा रहा है।

घर खाली करने का प्रशासन ने दिया आदेश

जिला प्रशासन ने शुक्रवार तक प्रिसिंपल और उनके साथी डॉक्टर को घर खाली करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा यहां बने कैंसर वार्ड का आधा हिस्सा तोड़ा जाएगा। बताया गया कैंसर वार्ड के आधे हिस्से में 40 बेड का फेबिक्रेटेड वार्ड बनाया जाएगा। जहां कैसर के मरीजों का इलाज किया जाएगा। वहीं मेन गेट की जगह पीएचआई गेट को खोल दिया गया है। जहां से मरीज व उनके परिजन का आगमन होगा।

इमरजेंसी का रजि. काउंटर भी बदला

पीएमसीएच में इमरजेंसी वार्ड में पुराने रजिस्ट्रेशन काउंटर की जगह नया काउंटर भी शुरू किया जा रहा है। इसके लिए पुराने कांउटर को तोड़ उसके पास नए काउंटर बनाने का काम शुरू कर दिया गया है।

मेट्रो रेल निर्माण के कारण यह सबकुछ

दरअसल, यह सारे बदलाव और तोड़फोड़ पटना मेट्रो के कारण है। जिस जगह पर अस्पताल का मेन गेट और प्रिसिंपल का आवास हैं, वहां से  पटना मेट्रो रेल को गुजरना है। ऐसे में इन जगहों को खाली कराया जा रहा है। पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ. आईएस ठाकुर ने बताया कि मेन गेट को बंद करने का आदेश जारी कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि इसके लिए पहले ही मेट्रो रेल कंपनी से एमओयू कर लिया गया था।


Find Us on Facebook

Trending News