मुंबई के व्यापारी का फोन स्विच ऑफ हुआ तो लोगों ने समझ लिया अपहरण हो गया, फिर मच गया हड़कंप

मुंबई के व्यापारी का फोन स्विच ऑफ हुआ तो लोगों ने समझ लिया अपहरण हो गया, फिर मच गया हड़कंप

PATNA : मुंबई के व्यापारी हितेश अग्रवाल की अपहरण की सूचना से पुलिस महकमा में हड़कंप मच गया। अपहरण की सूचना के कुछ ही देर बाद व्यापारी के बारे में यह पता चला कि वह खिजरसराय थाने में है और सुरक्षित है। 

बता दें कि कल  अचानक एक खबर मीडिया से लेकर पुलिस महकमे तक तैरने लगी कि मुंबई के एक व्यापारी का अपहरण हो गया है।

फिर क्या था पुलिस महकमा बेचैन हो गया और व्यापारी के खोज में जुट गया लेकिन मामला खोदा पहाड़ निकली चूहिया वाला हुआ। असल में व्यापारी हितेश अग्रवाल का अपहरण नहीं हुआ था बल्कि उनका फोन स्विच ऑफ हो गया था।

व्यापारी से पूछताछ में पता चला की एजेंटों के बीच विवाद होने की वजह से सुलझाने के लिए वह गया जा रहे थे। इसी बीच उनका फिन स्विच ऑफ हो गया।

गौरतलब है हितेश अग्रवाल मुंबई की राघव माधव कंपनी के एमडी हैं जो किराना सामान एजेंट के माध्यम से दुकानदारों को उपलब्ध कराती है।

रविवार को हितेश अग्रवाल इन्हीं एजेंटों के साथ बैठक करने बिहार आए थे,हितेश की कम्पनी के कई सामान का डेट एक्सपायर कर गया था अतः दुकानदार उसे बेच नहीं पा रहे थे। इसी विवाद को सुलझाने वो गया चले गए थे। करीब 10 लाख का सामान दुकानदार और एजेंट के बीच फंसा हुआ था। कम्पनी उसे वापस नहीं कर रही थी।इस विवाद में वयापारिओं के दो गुटों के बीच भिड़ंत हो गया। 

जब हितेश मसला को सुलझाने गया निकले तो दूसरे गुट को लगा की हितेश के साथ वो गया में ले जाकर मारपीट कर रहे हैं।इसी बीच गर्दनीबाग थाना को इससे संबंधित सूचना दे दी गयी,वहीं दूसरी तरफ हितेश अग्रवाल का मोबाइल स्विच ऑफ हो गया,और फिर लोगो ने समझा कि अपहरण हो गया। हालांकि हितेश को खिजरसराय इलाके में ढूंढ लिया गया।

Find Us on Facebook

Trending News