जिसे देखभाल करने के लिए नौकरी पर रखा, उसी ने पैसों के लिए कर लिया वृद्ध को किडनैप, इस तरह हुई साजिश नाकाम

जिसे देखभाल करने के लिए नौकरी पर रखा, उसी ने पैसों के लिए कर लिया वृद्ध को किडनैप, इस तरह हुई साजिश नाकाम

PATNA : राजधानी में बृद्ध की देखभाल करते करते अपराधी ने अपहरण की साजिश रच फिरौती डिमांड की,  मामला पटना के पत्रकार नगर थाना क्षेत्र के सिद्धिविनायक अपार्टमेंट फ्लैट संख्या 307 में रहने वाले वृद्ध यमुना प्रसाद के अपहरण और फिरौती का है ।जहां अपहरण और फिरौती की सूचना जब उनके दो बेटों के मोबाइल नंबर पर गई तब उनके होश उड़ गए ,घटना रविवार के दिन  12:30 बजे ongc मुम्बई में मुख्य अभियंता के पद पर कार्यरत दिलीप कुमार के मोबाइल पर फिरौती के एवज में वृद्ध पिता को सकुशल वापस करने को कॉल किया। 

दरअसल दिलीप कुमार मुख्य अभियंता की माने तो अपहरणकर्ता ने दो बार कॉल किया जिसमें फिरौती की डिमांड की गई वही तीसरी कॉल रात को करने की बात कही गई थी ,आनन फानन में बिना समय गवाए अपहृत बृद्ध के बेटे दिलीप कुमार ने पत्रकारनगर थाना को इसकी सूचना दी ,पुलिस को घटना की जानकारी मिलते ही छानबीन शुरू की। जिस दौरान पुलिस को एक केयर टेकर द्वारा दिये गए शख्स पर शक की सुई अटक गई , अनुसंधान में पाया गया कि अपहृत यमुना प्रसाद के दो बेटे संजय प्रसाद सिंह जो असम में रेलवे मुख्य अभियंता के पद पर कार्यरत हैं वही दूसरा बेटा दिलीप कुमार सिंह ongc मुम्बई में मुख्य अभियंता के पद पर कार्यरत है। दरअसल अपने वृद्ध पिता की पटना में देखभाल के लिए SPHC pvt ltd नाम के संस्था से केयर टेकर राजन कुमार को हायर किया था। 


केयर टेकर ही दो माह पूर्व से देखभाल वृद्ध की कर रहा था और उसने ही अपहर्ता राजन कुमार अरवल जिले का निवासी है और 14 नवंबर को यमुना प्रसाद का अपहरण कर पालीगंज के तरफ छिपा था ,पुलिस की घेराबंदी के कारण उसका रुख पटना के तरफ हुआ और रास्ते भागने के क्रम में पटना पुलिस ने घेराबंदी कर अपहृत बृद्ध को सही सलामत बरामद कर लिया और इस अपहरण के साजिशकर्ता राजन को धर दबोचा फिलहाल पुलिस उसे पत्रकार नगर थाना लाई है जहां उससे कड़ी पूछताछ जारी है।


Find Us on Facebook

Trending News