राष्ट्रपति चुनाव के लिए इस 'गांधी' की तरफ देख रहा है विपक्ष, बनाया जा सकता है उम्मीदवार

राष्ट्रपति चुनाव के लिए इस 'गांधी' की तरफ देख रहा है विपक्ष, बनाया जा सकता है उम्मीदवार

DESK : अगले माह देश के राष्ट्रपति के लिए चुनाव होना है। जिसमें भाजपा की तरफ टी. सुंदराजन का नाम सबसे आगे बताया जा रहा है। वहीं विपक्ष की तरफ से अब अपने कैंडिडेट के चयन का काम शुरू कर दिया है और इस बार भी विपक्ष की नजर एक गांधी पर आकर टिक गई है। हालांकि यह गांधी मौजूदा सोनिया गांधी के परिवार से नहीं, बल्कि देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के परिवार से जुड़ा है। मिली जानकारी के मुताबिक विपक्ष पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल (former Governor of West Bengal) गोपालकृष्ण गांधी (Gopalkrishna Gandhi) को राष्ट्रपति पद के लिए पद के लिए अपना कैंडिडेट बनाने पर विचार कर रहा है। 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कुछ नेताओं ने संभावित विकल्प के तौर पर पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल गोपालकृष्ण गांधी से संपर्क किया है। कुछ विपक्षी नेताओं ने पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल गोपालकृष्ण गांधी से फोन पर बात की है। नेताओं ने पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल गोपालकृष्ण गांधी से राष्ट्रपति पद के लिए संयुक्त विपक्षी उम्मीदवार बनने पर विचार करने का अनुरोध किया।  वे 2017 में भारत के उपराष्ट्रपति पद के लिए सर्वसम्मति से विपक्षी उम्मीदवार थे। उस चुनाव में वे एम वेंकैया नायडू से हार गए थे। 

मांगा विचार करने का समय

पूर्व राज्यपाल गोपालकृष्ण गांधी ने इन नेताओं से कुछ समय मांगा है। बुधवार तक वे अपना जवाब वापस दे सकते हैं। उनसे बात करने वाले नेताओं ने कहा कि उम्मीदवार बनने के अनुरोध पर गोपालकृष्ण गांधी ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी थी। माना जा रहा है कि अगर वह अनुरोध स्वीकार करते हैं, तो वह राष्ट्रपति पद के लिए सर्वसम्मति से विपक्षी उम्मीदवार के रूप में उभर सकते हैं। इससे पहले 2017 के उप राष्ट्रपति के दौरान भी विपक्ष की सभी पार्टियों ने अपनी सहमति दी थी। 

गौरतलब है कि महात्मा गांधी के पोते गोपालकृष्ण गांधी 2004 से 2009 तक पश्चिम बंगाल के राज्यपाल थे। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका में भारत के उच्चायुक्त के रूप में भी काम किया है।

Find Us on Facebook

Trending News