ट्रेनर पर गोली चलवानेवाले जदयू नेता डॉ. राजीव को पटना पुलिस ने "अणे मार्ग" के दबाव पर छोड़ा, राजद का बड़ा दावा

ट्रेनर पर गोली चलवानेवाले जदयू नेता डॉ. राजीव को पटना पुलिस ने "अणे मार्ग" के दबाव पर छोड़ा, राजद का बड़ा दावा

PATNA : पटना के कदमकुआं थाना क्षेत्र में शनिवार को जिम ट्रेनर पर हुए कातिलाना हमले की घटना पर अब राजनीति का रंग चढ़ने लगा है। मामले में जिस डॉ. राजीव कुमार सिंह का नाम सामने आया है. वह जदयू के चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष थे। हालांकि घटना के बाद जदयू ने उन्हें पार्टी से निकालने का आदेश जारी कर दिया। लेकिन इसको लेकर अब राजद नीतीश सरकार पर हमलावर हो गई है।

राजद प्रवक्ता शक्ति यादव ने नीतीश कुमार के बयान को दोहराते हुए कहा है, हमारे सीएम नीतीश कुमार अपनों को बचाते हैं और गैरों को फंसाते हैं। जिसकी झलक देखने को मिली। उन्होंने कहा कि कल जिस तरीके से ट्रेनर को गोली लगी है। मामले में जिन दंपती के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया, पुलिस ने उनकी थाने में आवाभगत की और कुछ घंटे के पूछताछ करके छोड़ दिया। यह इसलिए कि क्योंकि पुलिस पर राजनीतिक प्रेशर था। यह बताने की जरुरत है कि जो भी नीतीश कुमार के खिलाफ बात करेगा, पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई करेगी। लेकिन जैसे ही नीतीश कुमार के अपने लोग फंसते हैं, तो पुलिस सरकार की रखैल बन जाती है। यह किसी से छिपा नहीं है।

तेजस्वी पर लगे सारे आरोप झूठे

राजद प्रवक्ता ने इस दौरान तेजस्वी यादव पर टिकट देने के नाम पर पैसे लेने के आरोपों का बचाव करते हुए इसे पूरी तरह से गलत बताया। शक्ति यादव ने कहा कि इस मुद्दे को भटकाने के लिए हाइपोथेटिकल केस जो है वह कराया जा रहा है ताकि इस मुद्दे को भटका दिया जाए भला ऐसा कभी हो सकता है हमारे कार्यालय में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं कोई यहां पैसे लेकर नहीं आ सकता है। हमारी पार्टी नीतियों पर चलती है, हम जदयू-भाजपा नहीं है। हमें बताइए कि जो मीसा भारती पूरे चुनाव में कहीं नजर नहीं आई, वह पैसे कैसे ले सकती हैं। टिकट बंटवारे में कांग्रेस से भी हमारा कोई संबंध नहीं है। 

Find Us on Facebook

Trending News