बिहार में शुरू हुई नाम बदलने की सियासत, सीएम नीतीश के सबसे खास ने की पीएम मोदी से बड़ी मांग

बिहार में शुरू हुई नाम बदलने की सियासत, सीएम नीतीश के सबसे खास ने की पीएम मोदी से बड़ी मांग

पटना. देश में सड़क और शहरों का नाम बदले जाने के कई वाकये हाल के वर्षों में देखने को मिले हैं. ताजातरीन मामला दिल्ली के राजपथ का नाम बदले जाने का है. राजपथ का नया मान अब कर्तव्यपाठ हो चुका है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजपथ को गुलामी का प्रतीक बताया था और नए नाम को देश की जन आकांक्षाओं के अनुरूप काम करने के लिए जाने वाला मार्ग बताते हुए कर्तव्य पथ का नामकरण किया था. ऐसे में नाम बदलने की इस कड़ी में अब बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी पीएम मोदी से एक बड़ी मांग कर दी है. उनकी यह मांग देश के नए संसद भवन से जुडी है. 

हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने मंगलवार को कहा कि सेंट्रल विस्टा का नाम बदला जाना चाहिए. नए संसद भवन का नाम सेंट्रल विस्टा होना गुलामी का प्रतीक मालूम पड़ता है. इसलिए कोई ऐसा नाम रखा जाए जो भारत के कण कण में विराजमान हो. इसके लिए उन्होंने एक नाम का सुझाव भी दिया है. मांझी ने ट्विट कर कहा है, देश के वर्तमान हालात एवं जनभावना को देखते हुए मैं माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से आग्रह करता हूं कि “सेंट्रल विस्टा” का नाम बदलकर “बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर परिसर” किया जाए. “सेंट्रल विस्टा”नाम गुलामी का प्रतिक लगता है जबकि “अंबेडकर” शब्द भारत के कण-कण में विराजमान है.

हालांकि मांझी की इस मांग पर अभी पीएम मोदी या केंद्र सरकार या फिर भाजपा की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. डॉ भीमराव अम्बेडकर को संविधान निर्माता कहा जाता है. देश की संघीय व्यवस्था का संचालन संविधान के अनुरुप ही होता है. ऐसे में संविधान निर्माता डॉ भीमराव अम्बेडकर के सम्मान में देश के नए संसद भवन का नामकरण करने की मांग जीतन राम मांझी ने की है. 

केंद्र की मोदी सरकार ने वर्ष 2014 में सत्ता सँभालने के बाद से लगातार कई संस्थाओं का नाम बदला है. योजना आयोग अब नीति आयोग के नाम से जाना जाता है. इसी तरह जल संसाधन विभाग, मानव संसाधन विभाग, कृषि विभाग जैसे कई विभागों के नाम बदले गए. उत्तर प्रदेश में भाजपा ने सत्ता संभाली तो मुगलसराय का नाम बदलकर पंडित दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर कर दिया गया. इसी तरह इलाहाबाद को अब प्रयागराज का अधिकारिक नाम मिल चुका है. दिल्ली के प्रधानमंत्री आवास जाने वाले मार्ग 7 रेस कोर्स का नाम बदलकर लोक कल्याण मार्ग कर दिया गया है. वहीं नए संसद भवन को सेंट्रल विस्टा नाम दिया गया है. लेकिन यह नाम अंग्रेजी के शब्दों से बना है. ऐसे में इसके भारतीय नामकरण की मांग कई लोगों ने पहले भी की थी. अब जीतन राम मांझी ने भी उसी क्रम में अपना सुझाव दे दिया है. 


Find Us on Facebook

Trending News