महानंदा के बढ़ते जलस्तर पर 24 घंटे की जा रही है निगरानी, प्रशासन का दावा - बाढ़ से निपटने को पूरी तरह से तैयार

महानंदा के बढ़ते जलस्तर पर 24 घंटे की जा रही है निगरानी, प्रशासन का दावा - बाढ़ से निपटने को पूरी तरह से तैयार

KATIHAR : मानसून के दस्तक के साथ ही बिहार के कई इलाको में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है, इस बीच बाढ़ के रेड जोन माने जाने वाले कटिहार में भी महानंदा फ्लड कंट्रोल विभाग अलर्ट मोड़ पर है। यहां 15 जून से 15 अक्टूबर तक हर साल की तरह  इस साल भी 24 घंटा बाढ़ नियंत्रण कक्ष के साथ-साथ बेतार कक्ष को भी अलर्ट कर दिया गया है। 

बाढ़ के खतरे को देखते हुए यहां तीन शिफ्ट में काम किया जा रहा है। हर शिफ्ट में जूनियर अभियंता के देखरेख में यहां कर्मी तैनात रहते हैं और कोई भी स्थिति की जानकारी आला अधिकारी के साथ साथ जिला प्रशासन को भी देने के निर्देश दिए गए हैं। महानंदा फ्लड कंट्रोल के कंट्रोल रूम और बेतार कक्ष  पर जानकारी देते हुए जूनियर अभियंता ने बताया कि तीन शिफ्ट में चार-चार लोग 24 घंटा तैनात रहते हैं और बाढ़ से जुड़े हर अपडेट को नोट करने के साथ-साथ किसी भी अलार्मिंग स्थिति की जानकारी फ्लड कंट्रोल विभाग के आला अधिकारी और जिला प्रशासन को देते हैं। वहीं बेतार कक्ष के इंचार्ज ने बताया कि वैसे तो स्थिति सामान्य है मगर 21  जून तक उन लोगों को अलर्ट मोड पर रखा गया है।

गौरतलब है लगातार बारिश के कारण बिहार की तमान नदियों का जलस्तर बढ़ गया है, जिसके कारण उत्तर बिहार के कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात उत्पन्न हो गए हैं। कटिहार भी इन जिलों में शामिल है, जहां बाढ़ की संभावना को देखते हुए सारी तैयारी करने के निर्देश दिए गए हैं। 


Find Us on Facebook

Trending News