33 विद्यालय सहायक और परिचारी नियोजन फर्जीवाड़ा में जिला शिक्षा कार्यालय की चुप्पी बना चर्चा का विषय

33 विद्यालय सहायक और परिचारी नियोजन फर्जीवाड़ा में जिला शिक्षा कार्यालय की चुप्पी बना चर्चा का विषय

MOTIHARI : मोतिहारी में चार दिन पूर्व डीईओ के फर्जी हस्त्राक्षर ,मोहर ,पत्रांक दिनांक से 16 विद्यालय सहायक व 17 विद्यालय परिचारी का निकले नियोजन पत्र के बाद भी जिला शिक्षा कार्यालय से कोई कार्रवाई नही करना जिला में चर्चा का विषय बना हुआ है। लोग यह कहते नही थक रहे कि जब डीईओ का फर्जी हस्त्राक्षर ,मुहर ,पत्रांक दिनांक पर नियोजन पत्र निकला को अबतक फर्जीवाड़ा करने वाले के विरुद्ध कार्रवाई क्यों नही किया गया। कहीं जिला शिक्षा कार्यलय के कर्मी व अधिकारी इस फर्जीवाड़ा में शामिल तो नही ? खुलासे के चार दिन बाद भी जिला शिक्षा कार्यालय फर्जीवाड़ा को लीपा पोती में जुटा है। इतना बड़ा फर्जीवाड़ा के चार  बाद भी जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा अबतक फर्जीवाड़ा में शामिल लोगों पर कोई प्राथमिकी तक दर्ज नही कराया गया ।आखिर फर्जीवाड़ा करने वाला का तार जिला शिक्षा कार्यालय से नही जुड़ा तो विद्यालय वार रिक्ति की सूची कैसे मिली। 

क्या था मामला

मोतिहारी डीईओ के हस्त्राक्षर व कार्यालय के पत्रांक दिनांक से जिला के भिन्न भिन्न विद्यालयों में 16 विद्यालय सहायक व 17 परिचारी का नियोजन पत्र जारी किया गया है ।डीईओ कार्यालय के पत्र में नियोजित सभी अभ्यर्थियों को 22 से 25 सितंबर तक आवंटित विद्यालय में योगदान करने का निर्देश दिया गया है । डीईओ का फर्जी हस्त्राक्षर भी है । वहीं मोतिहारी डीईओ संजय कुमार ने बताया था कि  विद्यालय सहायक व परिचारी का जिला शिक्षा कार्यालय से निर्गत पत्र फर्जी है ।युवकों को ठगने वाला को गिरोह का यह कार्य है ।युवक किसी के बहकावे में नहीं आएं। डीईओ ने बताया कि फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह को चिन्हित कर त्वरित कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

वही नियोजित अभ्यर्थियों के सूची के साथ साथ नियोजन पत्र भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है । लेकिन, इतना सब होने के बाद भी आज चार दिन बीतने के बाद भी फर्जीवाड़ा करने वाले क्या कार्रवाई की गई । इसके लिए दो बार फोन करने पर डीईओ द्वारा फोन नही उठाने से उनका पक्ष नही लिया जा सका।


Find Us on Facebook

Trending News