नदी कटाव की स्थिति ने लोगों की उड़ा दी नींद , विस्थापित होने पर मजबूर हैं परिवार

नदी कटाव की स्थिति ने लोगों की उड़ा दी नींद , विस्थापित होने पर मजबूर हैं परिवार

KISHANGANJ :- बिहार में पिछले कई दिनों से लगातार बारिश हो रही है प्रदेश के कई जिले बाढ़ से प्रभावित हैं। प्रदेश में सबसे अधिक वर्षा वाले किशनगंज भी इन प्रभावित जिलों में  शामिल है, जहां  लगातार बारिश एंव जल अधिग्रहण क्षेत्र में छोड़े गए पानी की वजह से  किशनगंज जिले के टेढ़ागाछ प्रखंड क्षेत्र से होकर बहने वाली अधिकतर नदियां तूफान पर है और नदी कटाव का कहर जारी हैं। लोग भय के मौहोल में है लोगों की रात का नींद गायब है। 

लोगों को नदी कटाव का डर ग्रामीणों को सताने लगती है कि कब उनकी आशियाना नदी समा न ले। टेढ़ागाछ प्रखंड के माली टोला मटियारी,बावनटोली गढ़ीटोल धापरटोला गांव  के समीप रेतुआ नदी में हो रहे कटाव को लेकर ग्रामीण काफी भयभीत रहते हैं। रेतुआ नदी में हो रहे तेज कटाव से गांव पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। 

इस वजह से ग्रामीणों को अपना घर रेतुआ नदी में समाहित होने का डर सताने लगी है लेकिन नदी कटाव जारी है लोग अपने घरों को छोड़कर जाने को मजबूर हैं।  इससे स्पष्ट है कि बाढ़ को लेकर सरकार से जो सहायता कार्रक्रम चला रही  है वह सब नाकाफी साबित हो रहा है।


Find Us on Facebook

Trending News