इस विश्वविद्यालय के छात्र रात में जोर-जोर से चिखते-चिल्लाते है, जानिए क्या है वजह.....

इस विश्वविद्यालय के छात्र रात में जोर-जोर से चिखते-चिल्लाते है, जानिए क्या है वजह.....

NEWS4NATION DESK : देर रात छात्रों के  जोर-जोर से चीखने-चिलाने की आवाज एक परंपरा है यह जानकर आपको आश्चर्य होगा, लेकिन यह सच है। 

यह परंपरा स्वीडन में उप्पसला इलाके में 70 के दशक से कायम है और आज भी छात्र इसे निभाते है। बताया जाता है कि इस इलाके के स्टूडेंट हर रात 10 बजे अपने कमरे की खिड़कियों को खोलकर जोर-जोर से चिल्लाते हैं। दुनियाभर में इसे फ्लोग्सटा स्कीम के रुप में जाना जाता है। 

इस परंपरा के पीछे ऐसी धारणा है कि ऐसा करने से स्टूडेंट का तनाव दूर होता है और इसी वजह से छात्र हर रात इस प्रक्रिया को करते हैं।  

हालांकि पूरी दुनिया में रात में सड़क पर चलते हुए अचानक आसपास के इमारतों से इंसानों के चीखने-चिल्लाने की आवाज आती है तो लोग डर जाते हैं। मगर स्वीडन में यह लोगों के दिनचर्या और जीवन का एक हिस्सा है। 

बताया जाता है कि स्वीडन के उप्पसला विश्वविद्यालय में 1970 में इसकी शुरुआत की गई थी और इसे फ्लोग्स्टा नाम दिया गया। इस परंपरा को आज भी यहां के छात्र कायम रखे हुए हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News