एनटीपीसी बाढ़ के बालिका सशक्तिकरण अभियान से निखर रही है ग्रामीण बच्चियों की प्रतिभा

एनटीपीसी बाढ़ के बालिका सशक्तिकरण अभियान से निखर रही है ग्रामीण बच्चियों की प्रतिभा

बाढ़. "बालिका सशक्तिकरण अभियान” का 22 मई 2022 से 18 जून 2022 तक एनटीपीसी बाढ़ के आवासीय परिसर के नौट्रेडेम एकेडमी में किया जा रहा है। यह बालिकाओं में शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण एवं सशक्तिकरण के लिए एक महत्वपूर्ण अभियान है।

“ग्रामीण पृष्टभूमि के बच्चियों के लिए, यह एक महत्वपूर्ण अनुभव है। हम व्यक्तिगत स्वच्छता, अनुशासन और कला के बारे में बहुत कुछ सीख रहे हैं। कक्षाओं में न केवल शैक्षिक अपितु योग, कला, नृत्य जैसे कौशल सिखाये जा रहें है। हमारे शिक्षक एवं एनटीपीसी बाढ़ के  सभी स्टाफ हमें प्रेम एवं स्नेह दे कर हमारा खयाल रख रहें है। संगीत और कंप्यूटर की कार्यशाला मुझे अत्यंत रोचक लगी। ये कहना है राजकीय मध्य विद्यालय,सहरी की छात्रा स्मृति का है।

ये नन्हीं बालिकाएं एनटीपीसी बाढ़ के द्वारा आयोजित बालिका सशक्तिकरण अभियान के तहत सभी क्षेत्रों में अपनी छीपी प्रतिभाओं की वृद्धि के लिए कार्यशालाओं में बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहीं हैं एवं एनटीपीसी के इस आयोजन के उद्देश्य को सार्थक कर रही हैं। "मैं बड़ा होकर आईएएस अधिकारी बनना चाहती हूँ। एनटीपीसी बाढ़ के कार्यशाला में मैं जो प्रशिक्षण ले रहीं हूं, उससे मुझे अपने सपनों को हासिल करने का आत्मविश्वास मिला है”- ऐसा कहना है एनटीपीसी बाढ़ के बालिका सशक्तिकरण अभियान में भाग ले रही खुशी कुमारी का, जो कि  मध्य विद्यालय, भगवतीपुर करमौर की छात्रा हैं, बड़े हो कर आईएएस बन देश की सेवा करना चाहती हैं। 

ऐसे सपनों को साकार करने में अपना योगदान देने के उद्देश्य से एनटीपीसी द्वारा 35 स्थानों पर ये अभियान शुरू किया गया है। इस अभियान का उद्देश्य बालिकाओं की प्रतिभा और कौशल का विस्तार करना एवं निखारना है। पाठ्यक्रम में जीवन की गुणवत्ता में सुधार, शिक्षा के महत्व, अनुशासन, आत्मरक्षा, व्यक्तिगत स्वच्छता, स्वास्थ्य जागरूकता, सॉफ्ट स्किल्स, लैंगिक मुद्दों इत्यादि पर जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रयास किया गया है। एक माह तक चलने वाली यह कार्यशाला अब अपने अंतिम चरण पर है। इस दौरान प्रतिभागी बालिकाओं को प्रातः काल में योग के विभिन्न आसन व प्राणायाम का अभ्यास कराया जा रहा है, जिससे तन और मन स्वस्थ रहे। कार्यशाला में ड्राईंग पेन्टिग, आर्ट एवं क्राफ्ट, नृत्य एवं संगीत, खेलकूद, मनोरंजक कार्यक्रम एवं शैक्षिक अध्यापन जैसे कि गणित, विज्ञान, अंग्रेजी एवं कम्प्यूटर शिक्षा आदि का ज्ञान दिया जा रहा है।

इस कार्यक्रम में एनटीपीसी बाढ़ के कर्मचारियों के साथ साथ मंदाकिनी लेडिज क्लब की अध्यक्षा, सरबरी दत्ता के नेतृत्व में मंदाकिनी क्लब की सदस्यों के अलावा एनटीपीसी बाढ़ सीआईएसएफ यूनिट के कर्मचारी, एवं हीरो माइंड संस्था के कर्मचारी अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। इस अभियान में आसपास के ग्रामीण विद्यालयों के 10 से 12 वर्ष के 41 चयनित बालिकाओं को एक माह का आवासीय प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। गौरतलब है कि इस अभियान का औपचारिक शुभारंभ 22 मई को एक कार्यक्रम में किया गया था। 

एनटीपीसी बाढ़ का यह प्रयास है कि ये बालिकाएं 18 जून  को प्रशिक्षण समाप्ति के उपरांत जब अपने घरों को लौटें तो सभी गुणों से परिपूर्ण एक दक्ष व सशक्त बालिका के रूप में निखरें तथा अन्य ग्रामीण बालिकाओं के लिए एक रोल मॉडल बन सकें।

Find Us on Facebook

Trending News