तेजस्वी की पीठ में खंजर भोंक रहे हैं नवादा के तीनों राजद विधायक, चुनाव हारने के बाद MLC कैंडिडेट ने लगाया आरोप - रची थी बड़ी साजिश

तेजस्वी की पीठ में खंजर भोंक रहे हैं नवादा के तीनों राजद विधायक, चुनाव हारने के बाद MLC कैंडिडेट ने लगाया आरोप - रची थी बड़ी साजिश

NAWADA : बिहार में एमएलसी चुनाव को हुए लगभग एक माह का समय गुजर चुका है। लेकिन अब कुछ कैंडिडेट के लिए चुनाव में मिली हार का जख्म ताजा है। इन कैंडिडेट में नवादा जिले से राजद के एमएलसी उम्मीदवार श्रवण कुशवाहा भी शामिल हैं। जिन्हें चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा था। अब श्रवण कुशवाहा ने अपनी हार के पीछे के कारणों को लेकर खुलकर बात की है। उन्होंने हार के लिए नवादा के तीनों राजद विधायक पर आरोप लगाया है। श्रवण कुशवाहा ने कहा तीन विधायकों ने मुझे हराने के लिए बड़ी साजिश रची थी। उन्होंने कहा कि तीनों विधायकों ने तेजस्वी यादव की पीठ में खंजर भौंकने का काम किया है।

नवादा जिले के सर्किट हाउस में नवनिर्वाचित जिला अध्यक्ष का राजद उदय यादव के स्वागत कार्यक्रम में पहुंचे राजद के एमएलसी उम्मीदवार श्रवण कुशवाहा ने सर्किट हाउस में प्रेस वार्ता कर राजद के तीन विधायक पर जोरदार हमला करते हुए कहा कि तेजस्वी यादव के हाथों को नवादा में राजद के विधायक के द्वारा कमजोर किया जा रहा है। हमारी हार के पीछे भी इन तीनों विधायकों का ही हाथ है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव तेजस्वी यादव में नवादा में नए संगठन बनाने को लेकर जोड़ दिया है. वहीं  राजद के बागी लोगो के खिलाफ राजद सुप्रीमो के द्वारा बड़ी कार्रवाई की जाएगी. इन विधायकों ने जिस तरह से तेजस्वी यादव के हाथों को कमजोर करने की कोशिश किया है. इन लोगों के खिलाफ भी बड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी. उन्होंने कहा कि इन विधायकों के कारण नवादा में स्थानीय विधान परिषद चुनाव मे तेजस्वी यादव को हारना पड़ा है। उन्होंने कहा कि ए टू जेड की पार्टी तेजस्वी यादव की है। 

नवादा राजद में प्रत्याशी चयन पर हुआ था विवाद

जानकारी दे दे कि पूरी तरह राजद में घमासान मचा था. जब नवादा के एमएलसी उम्मीदवार श्रवण कुशवाहा को बनाया गया था तो नवादा में राजद पार्टी छोड़ कर निर्दलीय उम्मीदवार अशोक यादव खड़ा हो गया और अशोक यादव की विजय हुई. जहां पर नवादा के विधायक विभा देवी,रजौली विधायक प्रकाश वीर एवं गोविंदपुर के विधायक मोहम्मद कामरान पूरी तरह अशोक यादव को अंदर ही अंदर निर्दलीय उम्मीदवार को सपोर्ट किए थे. या आरोप श्रवण कुशवाहा ने साफ तौर पर लगाया है।

Find Us on Facebook

Trending News