गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी को फंसाने की चाल हुई बेनकाब, सुप्रीम कोर्ट से राहत मिलने पर भाजपा ने कांग्रेस और लेफ्ट पर लगाया बड़ा आरोप

गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी को फंसाने की चाल हुई बेनकाब, सुप्रीम कोर्ट से राहत मिलने पर भाजपा ने कांग्रेस और लेफ्ट पर लगाया बड़ा आरोप

पटना. भाजपा ने पीएम नरेंद्र मोदी को गुजरात दंगों से जुड़े मामले की सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिलने पर विपक्षी दलों को आड़े हाथों लिया है. उच्चतम न्यायालय ने 2002 के गुजरात दंगा मामले में गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और 63 अन्य लोगों को विशेष जांच दल (एसआईटी) द्वारा क्लीन चिट दिए जाने को चुनौती देने वाली याचिका शुक्रवार को खारिज कर दी. फैसले के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कांग्रेस और लेफ्ट पर जमकर निशाना साधा. बीजेपी के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जाकिया जाफरी को कांग्रेस और लेफ्ट का समर्थन हासिल था. लेफ्ट गैंग पीएम मोदी के पीछे पड़ी थी. पीएम मोदी के खिलाफ फर्जी कैंपेन चलाया गया. 

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि पूरे मामले में कोई दम नहीं है. जानबूझकर कुछ लोग थे जो मोदी पर परे थे. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पूरी जांच यूपीए शासन के दौरान हुई. पीएम मोदी पर जानबूझकर गलत आरोप लगाए गए. मोदी विरोध के नाम पर कुछ ने दुकान चलाई. गुजरात दंगे के नाम पर झूठे आरोप लगाए गए. जाकिया जाफरी की अर्जी सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी. एसआईटी ने पीएम मोदी को क्लीन चिट दी थी. इसके साथ ही बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने प्रोपगैंडा फैलाने वालों को सख्त संदेश देते हुए कहा कि देश के लोकप्रियतम नेता नरेंद्र मोदी के खिलाफ जो षड़यंत्र 2001-02 से चल रहा है वो समाप्त होना चाहिए.

उन्होंने कहा कि गुजरात दंगों को लेकर एसआईटी का गठन सुप्रीम कोर्ट ने किया था. एसआईटी  ने जांच की थी. SIT ने गुजरात के मुख्यमंत्री मोदी को 9 घंटे पूछताछ की थी लेकिन एक भी बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने हंगामा नही किया था. आज राहुल गांधी के मामले में कांग्रेस के नेता सड़कों पर हैं. 


Find Us on Facebook

Trending News