वार्ड हो गया महिला आरक्षित तो फटाफट रचाई शादी और बीवी को बना दिया उम्मीदवार, अब नई नवेली दुल्हन अपने लिए मांग रही वोट

वार्ड हो गया महिला आरक्षित तो फटाफट रचाई शादी और बीवी को बना दिया उम्मीदवार, अब नई नवेली दुल्हन अपने लिए मांग रही वोट

KATIHAR : बिहार में पिछले साल के अंत में हुए पंचायत चुनाव में कई जगहों पर ऐसा देखा गया कि कुछ युवाओं ने सिर्फ इसलिए आनन फानन में शादी की, क्योंकि वह चुनाव में महिला आरक्षित सीटों पर अपनी पत्नी को कैंडिडेट बना सके। निकाय चुनाव के दौरान अब ऐसे ही मामले सामने आने लगे हैं। ऐसा  ही एक मामला कटिहार से सामने आया है। वार्ड महिला के लिए आरक्षित होने पर राजनीति में सक्रिय रहने वाले युवा इजहार निकाह कर के अपनी नई नवेली बेगम को चुनाव मैदान में प्रत्याशी के रूप में उतार दिया। यहां तक कि युवक खुद भी दूसरे वार्ड से उम्मीदवार बन गया। अब दोनों पति -पत्नी लोगों के घर जाकर अपने लिए वोट जुटा रहे हैं। वहीं कई लोग उनका समर्थन भी कर रहे हैं।


निकाह के महज एक सप्ताह बाद ही पति के साथ चुनाव में उतरी वार्ड नंबर 24 से पार्षद की प्रत्याशी बने रेशमा कहती है कि राजनीतिक बैकग्राउंड से तो वह नहीं है मगर अपने ससुराल और अपने पति जो कि राजनीति में सक्रिय है उनके साथ लोगों के आशीर्वाद लेकर जनता की सेवा का कोशिश करेगी। वहीं पति इजहार भी उनका समर्थन कर रहे हैं।

मां भी रह चुकी थी पार्षद

 दरअसल इजहार के माता वार्ड नंबर 23 और 24 से पार्षद बनी थी लेकिन फिर उन लोगों ने वार्ड नंबर 24 को छोड़ दिया था, माता के निधन के बाद इजहार लगातार उस वार्ड में सेवा के माध्यम से सक्रिय रहा पर फिर से एक बार वार्ड महिला के लिए आरक्षित हो गया। जिससे इजहार का वार्ड 24 से चुनाव लड़ने की उम्मीदें खत्म हो गई। जिसके बाद अचानक लोगों के द्वारा उनके ही घर से प्रत्याशी देने की मांग पर इजहार 15 सितंबर को रेशमा से निकाह  कर लिया और 21 सितंबर को वार्ड नंबर 24 से वार्ड पार्षद प्रत्याशी के रूप में  अपने पत्नी का नॉमिनेशन करवा दिया है जबकि इजहार खुद वार्ड नंबर 23 से वार्ड पार्षद पद के लिए अपनी दावेदारी पेश किए हैं। 

फिलहाल दोनों मियां-बीबी घूम घूम कर लोगों से मिलकर अपने अपने वार्ड के लिए जन समर्थन मांग रहे हैं, कटिहार में इस 'चुनावी निकाह' का चर्चा लोगों में जोर शोर से है। दोनों की इलाके मे ंजमकर चर्चा हो रही है।



Find Us on Facebook

Trending News