सीएम नीतीश के विधायक की पत्नी का पंचायत चुनाव में हुई बुरी हार, पूर्व मंत्री के रिश्तेदार को मिली जीत

सीएम नीतीश के विधायक की पत्नी का पंचायत चुनाव में हुई बुरी हार, पूर्व मंत्री के रिश्तेदार को मिली जीत

PATNA : बिहार में पंचायत चुनाव के नौंवे चरण में मतदान के वोटों की गिनती की जा रही है। इस बार भी पंचायत चुनाव में कई अप्रत्याशित परिणाम सामने आ रहे हैं। जिनमें सबसे बड़ा अप्रत्याशित परिणाम मधेपुरा के बिहारीगंज विधानसभा से सामने आया है। यहां जदयू विधायक निरंजन कुमार मेहता की पत्नी कुमुद कुमारी मुखिया चुनाव हार गई हैं। वह यहां पर वर्तमान में मुखिया के पद पर आसीन थी।  वह विधानसभा मे उदाकिशुनगंज प्रखंड के मधुवन पंचायत से चुनाव लड़ रही थी। हालांकि कुछ माननियों के लिए यह पंचायत चुनाव का परिणाम खुशी भी लेकर आया है। जिनमें पूर्व मंत्री और पूर्व विधायक के रिश्तेदार जीतने में कामयाब हो गए हैं। 

494 वोटों से हारीं विधायक की पत्नी

 उदाकिशुनगंज प्रखंड के मधुबन पंचायत से पूजा कुमारी मुखिया पद पर विजयी (Pooja Kumari Became Mukhiya) हुई हैं. पूजा कुमारी ने ये जीत बिहारीगंज विधानसभा से जदयू विधायक निरंजन कुमार मेहता की पत्नी और निवर्तमान मुखिया कुमुद कुमारी को 494 मतों से पराजित कर हासिल की है.मुखिया ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय में आज हुई मतगणना परिणाम के अनुसार पूजा कुमारी को 1953 मत मिले हैं. जबकि दूसरे नंबर पर रही निवर्तमान मुखिया कुमुद कुमारी को मात्र 1459 मत मिले. इस तरह से 494 मतों से पूजा कुमारी मुखिया के लिए निर्वाचित हुईं.

गौरतलब है कि मधुबन पंचायत में जदयू विधायक निरंजन मेहता 15 सालों तक खुद मुखिया रहे. उनके विधायक बनने के बाद उनकी पत्नी कुमुद कुमारी पंचायत चुनाव 2016 में मुखिया बनाने में सफल रहीं. खुद विधायक को भी दूसरी पारी में सफलता प्राप्त हुई. लेकिन पंचायत चुनाव 2021 में विधायक अपनी पत्नी की सीट नहीं बचा पाए. निरंजन मेहता द्वारा पंचायत चुनाव में एड़ी चोटी का जोर लगाने के बाद भी उनकी पत्नी निवर्तमान मुखिया कुमुद कुमारी की करारी हार हुई।


पूर्व मंत्री के रिश्तेदार जीते

सोनबरसा पंचायत से पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद कुशवाहा की भावज संध्या तराना अपनी सीट बचाने में कामयाब रहीं हैं।  पूर्वी चंपारण के अरेराज ममरखा भैया टोला से पंचायत समिति सदस्य पद पर पूर्व विधायक राजू तिवारी की भाभी रमावती देवी की जीत। वे कांग्रेस जिलाध्यक्ष शैलेन्द्र शुक्ला की पुत्रवधू भी हैं।

बता दें कि पंचायत चुनाव के नौंवे चरण में 97 हजार 878 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे हैं। बिहार निर्वाचन आयोग के मुताबिक इस चरण में कुल 26,831 पदों के लिए चुनाव संपन्न हो चुका है। इनमें ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए 11883 सीट, ग्राम पंचायत मुखिया पद के लिए 871 सीट, पंचायत समिति सदस्य पद के लिए 1196 सीट, जिला परिषद सदस्य पद के लिए 127 सीट, ग्राम कचहरी पंच पद के लिए 11,883 सीट और ग्राम कचहरी सरपंच पद के लिए 871 सीट शामिल हैं। 9वें चरण में 46 हजार 164 पुरुष और 51 हजार 714 महिला प्रत्याशी हैं।  

Find Us on Facebook

Trending News