रिश्वत की बात को लेकर मुकरीं महिला बीडीओ, कहा - दो साल पहले की घटना, रिश्तेदारी में की थी पैसे की मांग

रिश्वत की बात को लेकर मुकरीं महिला बीडीओ, कहा - दो साल पहले की घटना, रिश्तेदारी में की थी पैसे की मांग

SUPAUL : जिले के त्रिवेणीगंज से बड़ी खबर सामने आ रही है जहां बीडीओ और गुड़िया पंचायत के पूर्व मुखिया पति शिव नारायण यादव के बीच पैसे लेनदेन का वायरल वीडियो होते प्रखंड विकास पदाधिकारी और पूर्व मुखिया पति का बयान निकल कर सामने आया है>

पैसे रिश्वत लेने की बात मुखिया ने नकार दिया, 

कहा उनके पति की परिवारिक संबंध है,और वर्षों से लेनदेन चल रहा है, इसमें कहीं घूस लेने की बात नहीं है पूर्व मुखिया पति ने कहा क्या पदाधिकारी के रिश्तेदारी नहीं हो सकते हैं, क्या उनका मित्र नहीं है, उनका दोस्त नहीं हो सकता है, अगर वह उनसे पैसा लेन देन करें तो घुस लेने की बात हो जाए, यह सरासर गलत है, कुछ लोगों के द्वारा जो वीडियो बनाया गया है, जो मिस यूज करने के फिराक में थे इस बात की मुझे जानकारी मिला तो हमने बीडीओ को शपथ पत्र भी बना दिए। 

उन्होंने कहा कि बीडीओ के पति से मेरा पूर्व से लगाव है। मेरे यहां बीडीओ पति का आना जाना रहता है,  वर्षों से लेनदेन चलता है, वहीं इस मामले में प्रखंड विकास पदाधिकारी आशा कुमारी का भी बयान खुलकर सामने आया, आशा कुमारी ने बताया की पूर्व मुखिया पति से उनके घरेलू सम्बंध है मेरे पति से लिए गए रुपये बकाये थे उसी राशि हमे दे रहे जिसे किसी ने कैमरे में रिकॉर्ड कर लिए यह मुझे फंसाने के षड्यंत्र का हिस्सा है जो मेरी छवि धूमिल करना चाहते है। उन्होंने  कहा मेरे पति से मुखिया का परिवारिक संबंध रहा है, हमको त्रिवेणीगंज पदस्थापित से पहले मुखिया जी ने मेरे पति से पैसा लिए थे, वही पैसा हमको वापस कर दिए उस समय चेंबर में बहुत लोग मौजूद थे, कुछ तथाकथित लोग के द्वारा वीडियो बना लिया गया, उसके एक साल बाद मुझे तथा कथित लोग महिला पदाधिकारी होने के नाते लगातार प्रताड़ित करता रहा है।


वीडियो के नाम पर मांगे आठ लाख रुपए

आठ लाख रूपये की मांग करने लगा नहीं देने पर वीडियो वायरल कर देंगे धमकी देने लगा, वही लोग कल मेरे चेंबर आये हुए थे, कहा आठ लाख रूपये दो नहीं देने के उपरांत वीडियो वायरल कर देने की धमकी दिया अगर हम घूस लेते तो अपने चेंबर में लेते क्या चेंबर में मेरा बहुत स्टाफ भी है, सीसीटीवी कैमरा भी लगा हुआ है,इस बात की जानकारी हमने अपने पति को भी दिया , ऑफिशियल कार्यों को लेकर हम इस बात को उच्च अधिकारी को नहीं बोल सके।

दो साल पुराना है वीडियो

 आज वही वीडियो को तथाकथित लोग वीडियो वायरल कर दिया, उन्होंने यह भी कहा अगर हम दोषी नहीं है तो उन लोगों को आठ लाख रूपया कहां से देते, आज तक हमने त्रिवेणीगंज में किसी से एक पैसा तक नहीं लिए निष्ठा पूर्वक हमने त्रिवेणीगंज प्रखंड में कार्य करते हैं, उन्होंने कहा वायरल वीडियो 2 साल पुरान है, जिसे षड्यंत्र रच कर वायरल किया। ऐसे व्यक्तियों पर हम कार्रवाई करें करने की बात कही है, अब सवाल उठता है जो व्यक्ति इनका वीडियो बनाया थाष ,वह व्यक्ति उस समय क्यों नहीं वीडियो को वायरल किया आखिर इस घटनाओं को करीब दो साल बीतने जा रहा है, 

इस समय क्यों वीडियो वायरल किया गया

 इतना नहीं त्रिवेणीगंज ब्लैक ब्लैकमेल करने इतिहास रहा है, यहां कुछ वैसे भी तथाकथित लोग है जो अधिकारी का प्रलोभन या मौका देख उनका वीडियो बनाते हैं फिर उन्हें उनसे मोटी रकम उगाही करते इससे इससे पूर्व भी कई खबर प्रकाशित किए गए थे, लेकिन इस पर पदाधिकारी की ओर से कोई संज्ञान नहीं लिया गया था,अब देखना है कि पूरे मामले में ऊंट किस करवट बैठता है।बीडीओ को ब्लैकमेल करने वाले लोगो पर करवाई होती है या फिर बीडीओ साहिबा इस लपेटे में आएगी इस बात पर सबकी नजर टिकी है,


Find Us on Facebook

Trending News