तिरंगे के साथ अधिकारी के डंडे के शिकार बन चर्चा में आए युवक ने कार्रवाई को बताया हिटलरशाही, सीएम को दी यह चेतावनी

 तिरंगे के साथ अधिकारी के डंडे के शिकार बन चर्चा में आए युवक ने कार्रवाई को बताया हिटलरशाही, सीएम को दी यह चेतावनी

DARBHANGA :  बिहार की राजधानी पटना में सांतवें चरण के शिक्षक नियोजन की मांग कर रहे छात्रों पर पटना के लॉ एंड आर्डर के एडीएम केके सिह ने डाकबंगला चौराहा पर तिरंगा लेकर प्रदर्शन कर रहे एक अभ्यर्थी को लाठी से मार मारकर उसे घायल कर दिया। जिसके बाद सोशल मीडिया पर चर्चा के साथ सभी राजनीतिक दलों का विषय  घायल अभ्यर्थी किसी तरह पटना से गाड़ी पकड़ कर दरभंगा पहुंचा। लेकिन चोट के साथ दरभंगा पहुंचने के बाद भी नीतीश सरकार के प्रति उनकी नाराजगी कम नहीं हुई है। उन्होंने यदि हमारी मांगों को पूरी नहीं किया गया तो इससे बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

 घायल अभ्यर्थी अनीशुर रहमान ने मीडिया से बात करते हुए कहा की वहां पर तैनात अधिकारी मेरा नही तिरंगा का अपमान किया है। जिसे बर्दाश्त नही किया जाएगा। वही अपनी पिटाई का दोषी नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव को मानते हुए पांच दिन का समय दिया है जिसके बाद धमकी देते हुए कहा की शिक्षक संघ सरकार के ईंट से ईंट बजा देंगे।

बंद करें नौकरी का ढकोसला

वही उन्होंने कहा कि चाचा भतीजा जो नौकरी देने का ढकोसला देते हैं वो बंद कीजिए। यदि इंसाफ नहीं मिलेगा तो बिहार बंद तक की बात कहते हुए अभ्यार्थी ने सरकार को चेतावनी दिया। लाठीचार्ज की जिम्मेवार नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव हैं उन्होंने तेजस्वी को आगाह करते हुये कहा कि अपना भविष्य बचना चाहते है तो, पलटू चाचा को समझाइये। घायल रहमान ने बताया कि हमारी मांग कि सांतवें चरण की शिक्षक बहाली प्रक्रिया को इस साल के अंत तक किसी भी स्थिति में पूरा किया जाए। अन्यथा अगले साल नीतीश कुमार को अपनी कुर्सी छोड़नी पड़ेगी।

बताते चले कि घायल अभ्यार्थी अनीशुर रहमान दरभंगा जिला के बेनीपुर अनुमंडल के तौहीद नगर वार्ड नं 4 का रहने वाला है और सांतवें चरण के शिक्षक नियोजन की शिघ्र बहाली की मांग करने पटना गए। जहां प्रदर्शन के दौरान वहां मौजूद ADM ने बेरहमी से पिटाई कर डाली। जिसके बाद बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने इस कांड की निष्पक्ष जांच के लिए दो सदस्यी जांच टीम का गठन करते हुए रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की बात कही है।


Find Us on Facebook

Trending News