तब नीतीश थे अब RCP: मोदी कैबिनेट में JDU को एक मंत्री पद मिलने पर बोले 'ललन' सिंह, 2019 की बात क्यों करते हैं...तब नीतीश कुमार अध्यक्ष थे

तब नीतीश थे अब RCP: मोदी कैबिनेट में JDU को एक मंत्री पद मिलने पर बोले 'ललन' सिंह, 2019 की बात क्यों करते हैं...तब नीतीश कुमार अध्यक्ष थे

PATNA : केन्द्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार किया जा चुका है.बिहार से दो नए मंत्री बनाये गए हैं. जिसमे लोजपा के पशुपति कुमार पारस और जदयू से आरसीपी सिंह शामिल है. जदयू से आरसीपी सिंह और ललन सिंह के मंत्रिमंडल में शामिल किये जाने के कयास लगाए जा रहे थे. लेकिन एक बार फिर से जेडीयू को केवल मंत्री पद से संतोष करना पड़ा। 2019 में भी जेडीयू को केवल एक मंत्री पद मिल रहा था जिसे राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने खारिज कर दिया था। 2021 के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने  एक मंत्री पद को भी स्वीकार कर लिया और खुद मंत्री बन गये। 

2019 में नीतीश कुमार थे जेडीयू अध्यक्ष

आरसीपी सिंह को केंद्रीय कैबिनेट में जगह मिलने के बाद कयासों का दौर जारी है। बताया जा रहा है की इससे ललन सिंह नाराज हो गए थे. लेकिन सांसद ललन सिंह ने सारे कयासों को ख़ारिज कर दिया है. जेडीयू दफ्तर में पत्रकारों से बात चीत में कहा कि 2019 में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुख्यमंत्री नीतीश कुमार थे. उस वक्त पार्टी के तमाम नेताओं से बातचीत करके इस चीज को अस्वीकार कर दिया था. सांसद ललन सिंह ने कहा कि 2019 की बात क्यों करते हैं? 2019 में तबके राष्ट्रीय अध्यक्ष ने फैसला लिया था। 2021 में अब के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने फैसला लिया है। हमें मंत्रिमंडल में नहीं शामिल होने पर किसी तरह की नाराजगी नहीं। पार्टी ने जो फैसला लिया, सो लिया, वो सबको मान्य है।

2021 में आरसीपी सिंह अध्यक्ष

 उन्होंने कहा की इस बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने जो निर्णय लिया है. वह पार्टी का निर्णय है. इस बात को लेकर कोई नाराजगी नहीं है. सवालिया भी किया गया कि आखिर आरसीपी सिंह ने इस बार नेताओं से बात नहीं की. उस पर उन्होंने कहा कि इस बात का जवाब देने के लिए हम नहीं है. यह नेता देंगे.

Find Us on Facebook

Trending News